नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में मिली 2-1 से हार के ठीक एक ही दिन के बाद टेस्ट टीम की कप्तानी भी छोड़ दी। इससे पहले उन्होंने भारतीय टी20 टीम की कप्तानी टी20 वर्ल्ड कप 2021 के बाद छोड़ दी थी। इसके बाद उन्हें वनडे टीम की कप्तानी से भी हटा दिया गया था। हालांकि टी20 और वनडे टीम के कप्तान नहीं रहने के बाद वो टेस्ट टीम के कप्तान थे, लेकिन अचानक से उनके द्वारा लिए गए इस फैसले ने क्रिकेट जगत को सन्न कर दिया। हालांकि उनकी जगह केएल राहुल को अगला टेस्ट कप्तान बनाया जा सकता है। 

विराट कोहली ने दिला दी एम एस धौनी की याद

विराट कोहली ने जिस तरह से टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ी कुछ ऐसा ही पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने भी साल 2014 में आस्ट्रेलिया दौरे के बीच में किया था। उन्होंने ने भी अचानक से भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ी थी और उसके बाद कोहली को टेस्ट टीम का कप्तान बनाया गया था। हालांकि साउथ अफ्रीका के खिलाफ मिली हार के बाद विराट कोहली पर ऐसा कोई दवाब नहीं था कि उन्हें कप्तानी छोड़नी पड़े, लेकिन उनका अचानक से लिया गया ये फैसला काफी हैरानी भरा रहा। 

टेस्ट क्रिकेट में विराट कोहली का बतौर कप्तान प्रदर्शन

भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में विराट कोहली ने सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी की और सबसे ज्यादा सफल भी रहे। उन्होंने टीम इंडिया के लिए 68 टेस्ट मैचों में कप्तानी की और कुल 40 मैचों में जीत दर्ज की। वहीं 17 मैचों में भारत को हार मिली और 11 मैच ड्रा रहे। उनकी कप्तानी में भारतीय टेस्ट टीम की सफलता का प्रतिशत 58.82 का रहा। 

सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने वाले एशियाई कप्तान हैं कोहली

टेस्ट क्रिकेट में एक एशियाई टीम के लिए टेस्ट कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा मैच जीतने वाले खिलाड़ी विराट कोहली रहे। उन्होंने सबसे ज्यादा 40 मैच जीते जबकि दूसरे नंबर पर धौनी ने 27 मैचों में जीत दर्ज की थी। वहीं 26 जीत के साथ मिस्बाह उल हक तीसरे नंबर पर हैं तो 21 जीत के साथ सौरव गांगुली चौथे नंबर पर हैं। 

Edited By: Sanjay Savern