नई दिल्ली, प्रदीप सहगल। महेंद्र सिंह धौनी के वनडे और टी-20 की कप्तानी छोड़ने के बाद विराट कोहली पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ ब्लू जर्सी में कप्तानी करते नज़र आएंगे। वनडे का कप्तान बनते ही विराट ने अपनी मुश्किलों का हल निकालना शुरू कर दिया है और कप्तानी में आने वाली दिक्कतों के समाधान भी वो निकाल रहे हैं।

भारत में पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली बाइलेट्रल सीरीज़ में अंपायर डिसीजन रिव्यू सिस्टम (यूडीआरएस) का इस्तेमाल किया जाएगा। यूडीआरएस कब लेना है और कब नहीं इसे लेकर कप्तान के मन में बहुत सी दुविधाएं होती हैं। टेस्ट सीरीज़ में भी कई बार ऐसा ही देखने को मिला था। जब विराट को यूडीआरएस लेने के लिए काफी सोच विचार करना पड़ा था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

टेस्ट सीरीज़ में ज़्यादातर मौकों पर विराट को यूडीआरएस लेने के साहा-पार्थिव, क्लोजिंग फील्डर्स और गेंदबाज़ों पर निर्भर रहना पड़ा। जिसमें कई बार फैसले भारतीय टीम के खिलाफ गए। लेकिन एकदिवसीय सीरीज़ और टी-20 सीरीज़ के लिए विराट ने साफ कर दिया है कि वो यूडीआरएस लेने के लिए महेंद्र सिंह धौनी की बात को ज्यादा तवज्जो देंगे। विराट का कहना है कि माही एक चतुर खिलाड़ी के साथ-साथ एक विकेटकीपर भी हैं। जो विकेट के पीछे से गेंद की दिशा पर पैनी नज़र रखते हैं।

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस