नई दिल्ली, जेएनएन। दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली की न्यूजीलैंड की धरती पर टेस्ट सीरीज में कड़ी परीक्षा होने वाली है। एक तरफ जहां कीवी टीम के हौसले भारत को वनडे सीरीज में हराकर बुलंद हैं तो दूसरी तरफ उसे अपनी घरेलू परिस्थिति और समर्थकों का भी पूरा समर्थन मिलेगा। न्यूजीलैंड की पिच पर तेज गेेंदबाजों को काफी मदद मिलती है और कीवी टीम में एक से बढ़कर एक बेहतरीन पेस बॉलर मौजूद हैं। इन सब हालातों में विराट की कड़ी परीक्षा होगी। वैसे भी विराट वनडे सीरीज में नहीं चल पाए थे, लेकिन टेस्ट सीरीज में उनसे बड़ी पारी की उम्मीद क्रिकेट फैंस को है। 

अब यहां पर बात न्यूजीलैंड के साथ टेस्ट मैचों की हो रही है तो आपको बता दें कि भारतीय टेस्ट क्रिकेट इतिहास में सिर्फ दो कप्तान ही ऐसे हुए हैं जिन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में दोहरा शतक लगाया है। इसमें से एक पूर्व भारतीय ओपनर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर है जबकि दूसरे बल्लेबाज भारतीय क्रिकेट टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली हैं। 

सचिन तेंदुलकर पहले भारतीय कप्तान थे जिन्होंने साल 1999 में पहली बार न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक लगाया था। वहीं विराट कोहली ने ये कमाल साल 2016 में ये उपलब्धि हासिल की थी और न्यूजीलैंड के खिलाफ 211 रन की पारी खेली थी। वहीं सचिन ने कीवी टीम के खिलाफ 217 रन की पारी खेली थी। सचिन तेंदुलकर टेस्ट क्रिकेट में भारत की तरफ से न्यूजीलैंड के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में दूसरे स्थान पर हैं। उन्होंने इस टीम के खिलाफ 24 मैचों में 1595 रन बनाए थे। वहीं राहुल द्रविड़ टेस्ट क्रिकेट में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं और उन्होंने 15 टेस्ट मैचों में 1659 रन बनाए थे। 

विराट कोहली की बात करें तो वो मौजूदा भारतीय टीम में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। उन्होंने कीवी टीम के खिलाफ 7 मैचों में 735 रन बनाए हैं। वहीं कीवी टीम के खिलाफ उनका बेस्ट स्कोर 211 रन है। विराट ने  इस टीम के खिलाफ टेस्ट में तीन शतक लगाए हैं। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस