नई दिल्ली, जेएनएन। वनडे सीरीज़ में जीत हासिल करने के बाद भी भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली चिंता में डूबे हुए हैं। कोहली की ये चिंता वेस्टइंडीज़ के खिलाफ होने वाले एकलौते टी-20 मैच को लेकर है। वेस्टइंडीज़ की टीम ही वो टीम थी जिसने भारतीय टीम को 2016 टी-20 वर्ल्ड कप से बाहर किया था।

ये भी है कोहली के डर की वजह

कोहली की चिंता वेस्टइंडीज़ के खिलाफ भारतीय टीम के टी-20 रिकॉर्ड को लेकर भी है। क्योंकि इस मामले में कैरिबियाई टीम भारत पर भारी साबित हुई है। इन दोनों टीमों के बीच 7 टी-20 मैच खेले गए हैं। जिसमें से सिर्फ 2 बार ही टीम इंडिया जीत हासिल करने में कामयाब हुई है। वहीं वेस्टइंडीज़ ने भारत को 4 मैच में पस्त किया है तो एक मैच बिना नतीजे के समाप्त हो गया था।

ये भी बढ़ा रहे हैं कोहली की मुश्किलें

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की मुश्किलें इंडीज़ के क्रिकेट बोर्ड ने भी बढ़ा दी है। क्योंकि एकमात्र टी-20 मैच के लिए चुनी गई टीम में क्रिस गेल, किरोन पोलार्ड, सैमुअल बद्री, सुनील नरेन, कार्लोस ब्रैथवेट और मार्लोन सैमुअल्स की वापसी हुई है। गेल और पोलार्ड अपने बल्ले के दम पर किसी भी टीम को पस्त करने का दम रखते हैं तो वहीं नरेन और बद्री टी-20 के स्पेशलिस्ट गेंदबाज़ माने जाते हैं। ये सभी खिलाड़ी अपने दम पर किसी भी मोड़ पर मैच का रूख पलटने का माद्दा रखते हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal