नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम ने आइसीसी टी20 विश्व कप में अपनी पहली जीत दर्ज की है। बुधवार को अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए मुकाबले में दमदार बल्लेबाजी और शानदार गेंदबाजी के दम पर 66 रन की बड़ी जीत हासिल की। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 2 विकेट पर 210 रन का स्कोर खड़ा किया था। जवाब में अफगानिस्तान की टीम 7 विकेट पर 144 रन ही बना पाई। हालांकि भारत को सेमीफाइनल की उम्मीदों को जिंदा रखने के लिए जिस जीत की जरूरत थी वो तो नहीं मिली लेकिन फैंस का भरोसा जागा है।

पहले पाकिस्तान और फिर न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली हार ने भारतीय टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को करारा झटका दिया। दो बड़ी हार के बाद अब टीम इंडिया को अपनी जीत के साथ दूसरी टीमों के नतीजे पर निर्भर रहना होगा। इस कड़ी में बुधवार को खेले गए अफगानिस्तान के साथ हुए मैच में भारत ने 66 रन की बड़ी दर्ज कर उम्मीदों को बनाए रखा। भारत को इस मैच मे 99 रन से ज्यादा की जीत चाहिए थी लेकिन अफगानिस्तान के बल्लेबाजों के संघर्ष ने ऐसा नहीं होने दिया।

टीम इंडिया की उम्मीदें कैसे बढ़ी

भारत के सेमीफाइनल का सफर न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के साथ ही लगभग नामुमकिन हो गया था। अब अफगानिस्तान के खिलाफ मनचाही जीत ना मिलने से यह मुश्किल थोड़ी बढ़ गई। भारत ने बुधवार को 66 रन की जीत हासिल की और नेट रन रेट माइनस से प्लस में पहुंच गया। अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड की टीम अब भी भारत से इस मामले में आगे है।

अब क्या है आगे का रास्ता

अब भारतीय टीम अपने आगे बचे दोनों मुकाबले में स्काटलैंड और नामीबिया के खिलाफ 80 रन से ज्यादा के अंतर से जीत हासिल करनी होगी। वैसे सिर्फ भारत की जीत से काम नहीं बनेगा। टीम इंडिया के फैंस को दुआ करनी होगी कि न्यूजीलैंड को अफगानिस्तान की टीम 53 रन से ज्यादा के अंतर से हरा दे।

Edited By: Viplove Kumar