मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लंदन, अभिषेक त्रिपाठी। विराट कोहली की कप्तानी में 39वें टेस्ट (साउथैंप्टन) में पहली बार ऐसा हुआ था कि उन्होंने लगातार दो टेस्ट में एक जैसी ही टीम खिलाई थी, लेकिन उसमें मिली हार के बाद टीम इंडिया एक बार फिर से परिवर्तन को तैयार है। रविचंद्रन अश्विन पूरी तरह फिट नहीं हैं और उन्होंने बुधवार को अभ्यास सत्र में गेंदबाजी नहीं की। साउथैंप्टन में उन्होंने इंग्लैंड की दूसरी पारी में 37.1 ओवर गेंदबाजी की और सिर्फ एक विकेट हासिल कर सके। इसके अलावा ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के प्रदर्शन पर सवाल उठ रहे हैं। इनकी जगह रवींद्र जडेजा और हनुमा विहारी को शुक्रवार से शुरू होने वाले पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के आखिरी मुकाबले में मौका दिया जा सकता है। हनुमा विहारी को अगर इस टेस्ट में खेलने का मौका मिलता है तो ये उनका डेब्यू टेस्ट मैच होगा। 

भारतीय टीम ने किया अभ्यास 

चार दिन में चौथा टेस्ट गंवाने के बाद भारतीय टीम मंगलवार को लंदन पहुंची और बुधवार को अभ्यास किया। अगर उसके अभ्यास के पैटर्न को देखें तो लगता नहीं कि विराट कोहली और टीम प्रबंधन खराब प्रदर्शन के कारण ऊपरी क्रम में परिवर्तन करना चाहता है। एक धड़ा जरूर असफल केएल राहुल की जगह युवा पृथ्वी शॉ को खिलाने की बात कर रहा है, लेकिन बुधवार को उन्हें नेट पर बहुत देर बाद उतारा गया। सबसे पहले बल्लेबाजी का अभ्यास करने ओपनर शिखर धवन, राहुल और तीसरे नंबर के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा उतरे। इस दौरान विराट नेट से बाहर अभ्यास कर रहे थे। केदार जाधव उन्हें अभ्यास करा रहे थे।

ऐसे मिले हनुमा के डेब्यू के संकेत

बुधवार के अभ्यास की रोचक बात हुनमा विहारी का छठे नंबर पर अभ्यास करना था। भारत-ए, अंडर-19 और सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल चुके 24 वर्षीय इस हैदराबादी खिलाड़ी ने जमकर अभ्यास किया। वैसे छठे नंबर पर हार्दिक पांड्या उतरते हैं, लेकिन बुधवार के अभ्यास में हनुमा को पांड्या से पहले उतारा गया। हनुमा दायें हाथ से बल्लेबाजी के साथ ऑफ ब्रेक गेंदबाजी भी करते हैं। उन्हें और शॉ को आखिरी दो टेस्ट मैचों के लिए टीम से जोड़ा गया, लेकिन अभी तक इन दोनों में से किसी को कोई मौका नहीं मिला है।

इस वजह से खास हैं हनुमा विहारी

बल्लेबाज़ हनुमा विहारी 19 साल में भारतीय टेस्ट टीम में जगह पाने वाले आंध्र प्रदेश के पहले क्रिकेटर हैं। 24 वर्षीय हनुमा ने 2017-18 के घरेलू सीज़न में 752 रन बनाए थे और इस दौरान उन्होंने अपना सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर (302*) भी बनाया था। हनुमा ने पिछले 8 साल में घरेलू क्रिकेट में 19 शतक और 41 अर्धशतक जड़े हैं। 2016-17 डोमेस्टिक सीजन में हनुमा ने 15 पारियों में 688 रन ठोके। इस दौरान उनका औसत 57.33 का रहा। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में फिलहाल उनका औसत 59.79 का है। आठ साल के फर्स्ट क्लास करियर में वो 15 सेंचुरी और 24 अर्धशतक जड़ चुके हैं।

साढ़े चार गेंदबाज का विकल्प

अभी तक चार टेस्ट मैचों में विराट पांच गेंदबाजों के साथ उतरते रहे हैं। इसमें तीन तेज गेंदबाज, एक स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और तेज गेंदबाजी करने वाले हार्दिक शामिल रहे हैं। अश्विन फिट नहीं हैं। ऐसे में विराट जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मुहम्मद शमी जैसे तेज गेंदबाजों के साथ स्पिनर रवींद्र जडेजा और ऑलराउंडर हनुमा विहारी को उतार सकते हैं। विहारी पांचवें गेंदबाज का काम करेंगे। अश्विन यहां पिछले चारों टेस्ट में खेले हैं और जडेजा को एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला। वहीं, तीन टेस्ट के बाद ही टीम के एक अन्य स्पिनर कुलदीप यादव को वापस भारत भेज दिया गया था।

फिलहाल पिच पर घास

ओवल की पिच पर अभी घास है, लेकिन शुक्रवार की सुबह तक इसमें हल्की छंटाई होगी। पिच पर शुरुआत में तेज गेंदबाजों को मदद मिलेगी और बाद में स्पिनर कमाल कर सकते हैं। बुधवार को बादलों ने ओवल ही नहीं लंदन को घेर रखा था और गुरुवार को भी हल्की बारिश हो सकती है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप