नई दिल्ली, संजय सावर्ण। जिन दो स्पिनर्स के दम पर भारतीय टीम टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत के सपने देख रही थी उन दोनों स्पिनर्स पर मेहमान टीम के ये दो स्पिनर्स पूरी तरह से पहले टेस्ट में हावी दिखे। टेस्ट गेंदबाजों की रैंकिंग में आर. अश्विन फिलहाल नंबर एक हैं जबकि रवींद्र जडेजा नंबर दो हैं। पहले टेस्ट के दौरान साफ तौर पर दोनों पारी में ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर इन दोनों से बीस साबित हुए और भारतीय टीम को टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा। 

अश्विन-जडेजा से बीस साबित हुए स्टीव को कीफ व नाथन लियॉन

अश्विन और जडेजा के लिए पहला टेस्ट मैच एक सबक साबित हुआ। इन दोनों स्पिनरों की बोलती ऑस्ट्रेलिया के नए नवेले स्पिनर स्टीव को कीफ और नाथन लियॉन ने बंद कर दी। अश्विन ने इस टेस्ट मैच में कुल 7 विकेट लिए जबकि जडेजा ने कुल 5 विकेट लिए जबकि ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर स्टीव ओ कीफ ने कुल 12 विकेट और नाथन लियॉन ने 5 विकेट लिए। रन देने के लिहाज से भी अश्विन और जडेजा मेहमान टीम के दोनों स्पिनर से काफी आगे रहे। अश्विन ने पहली पारी में 63 रन जबकि दूसरी पारी में 119 रन लुटाए जबकि जडेजा ने पहली पारी में 74 और दूसरी पारी में 65 रन दिए। अब बात स्टीव को कीफ की करें तो उन्होंने पहली और दूसरी पारी में 35-35 रन दिए जबकि नाथन लियॉन ने पहली पारी में 21 और दूसरी पारी में 53 रन दिए। 

दोनों टीमों के स्पिनर्स के पास समान था मौका

पुणे टेस्ट मैच में दोनों टीमों के स्पिनर्स के पास समान मौका था। पिच खेल के पहले दिन से ही टर्न ले रही थी और विकेट लेने का समान अवसर दोनों टीमों के पास था लेकिन इस मौके का सबसे ज्यादा फायदा उठाने में मेहमान टीम के स्पिनर कामयाब रहे। टेस्ट के दो बेस्ट भारतीय स्पिनर का प्रदर्शन भी ठीक था मगर वो कीफ जैसा कमाल करने से चूक गए। 

स्टीव ओ कीफ बन गए हीरो

पुणे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के नए स्पिनर कीफ हीरो बन गए। उन्होंने इस टेस्ट मैच में अपने टेस्ट करियर का बेस्ट प्रदर्शन किया। कीफ ने इस टेस्ट मैच में कुल 12 विकेट लिए और 70 रन लुटाए। यानी भारत के 20 विकेट में से उन्होंने अकेले 12 विकेट लेकर भारतीय टीम के सामने ये साबित कर दिया कि ऑस्ट्रेलियाई टीम का स्पिन अटैक उनके लिए अगले मैचों में भी भारी पड़ने वाला है। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern