नई दिल्ली, जेएनएन। श्रीलंकाई टीम भले ही दिल्ली टेस्ट में प्रदूषण से परेशान नजर आई और उसके कई खिलाड़ी मास्क लगाकर क्षेत्ररक्षण करते दिखाई दिए। इस परिस्थिति को देखते हुए मैच रेफरी डेविड बून और डीडीसीए ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों की मेडिकल जांच कराई तो वे बिल्कुल फिट मिले।

जांच करने वाले एम्स के एनीस्थीसिया पेन एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ. अमरपाल भल्ला ने इनके फिट होने की रिपोर्ट मैच रेफरी को सौंप दी है। 

टेस्ट मैच के दौरान श्रीलंकाई टीम के तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल और लाहिरू गमागे को उल्टी भी हुई थी। डॉ. भल्ला ने बताया कि श्रीलंकाई खिलाड़ियों का पल्स रेट 70 से 80 के बीच और लंग्स रेट 90 से 100 के बीच पाया गया। यह एक व्यक्ति के सबसे अधिक फिट होने का सर्टिफिकेट माना जाता है। 

यहां तक उन्होंने खिलाड़ियों को सलाह दी थी कि जो मास्क आप इस्तेमाल कर रहे है वह हल्के स्तर के हैं, इससे प्रदूषण नहीं रुक सकता। इसके साथ उन्होंने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि स्मॉग का सबसे ज्यादा असर बल्लेबाज पर होना चाहिए क्योंकि वह क्षेत्ररक्षक से ज्यादा भागता है। गेंदबाज भी दौड़ता है, लेकिन उसको एक स्पैल के बाद आराम मिल जाता है। 

लेकिन दिल्ली टेस्ट मैच में देखने को मिला था कि श्रीलंका के लगभग सभी खिलाड़ियों ने फील्डिंग के दौरान मास्क पहना हुआ था, जबकि बल्लेबाजी करने के दौरान किसी भी श्रीलंकाई खिलाड़ी ने मास्क नहीं पहना था। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Bharat Singh