नई दिल्ली, जेएनएन। श्रीलंका क्रिकेट टीम के मुख्य खिलाड़ियों ने सितंबर के आखिर में खेली जाने वाली सीरीज के लिए पाकिस्तान के दौरे पर जाने से मना कर दिया है। खिलाड़ियों ने सुरक्षा कारणों की वजह से इस दौरे पर ना जाने का फैसला लिया है। दौरे पर जाने से मना करने वाले खिलाड़ियों में टी20 कप्तान लसिथ मलिंगा और वनडे टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने के नाम शामिल हैं।

श्रीलंकाई खिलाड़ियों का यह कदम साल 2009 में पाकिस्तान के दौरे (Pakistan Tour) पर टीम पर हुए आतंकी हमले की वजह से है। उस घटना को भले ही 10 साल बीत गए हों लेकिन आज भी श्रीलंकाई टीम (Sri Lanka Team) के खिलाड़ी पाकिस्तान में खेलने से डरते हैं। मार्च 2009 में टीम के बस पर हुए इस हमले में उस वक्त के कप्तान महेला जयवर्धने समेत कई खिलाड़ी घायल हो गए थे।

साल 2009 की वो खौफनाक घटना

3 जनवरी 2009 को पाकिस्तान के लाहौर में श्रीलंका क्रिकेट टीम की बस पर हमला हुआ था। पाकिस्तान में टेस्ट सीरीज खेल रही श्रीलंकाई टीम दूसरे मैच के तीसरे दिन के खेल के लिए होटल से गद्दाफी स्टेडियम जा रही थी उसी वक्त आतंकियों ने बस पर गोलियां बरसानी शुरू कर दी। 12 नकाबपोश आतंकियों ने टीम के उपर पहले गोलियां चलाई फिर रॉकेट दागे और उसके बाद हौंड ग्रेनेड से हमला किया।

ये भी पढ़ें : श्रीलंका के खेल मंत्री ने खोली पाकिस्तान के एक और झूठ की पोल, कहा- आतंकी हमले के कारण...

हमले में घायल हुए श्रीलंकाई खिलाड़ी

टीम की बस पर हुए इस आतंकी हमले में उस वक्त के कप्तान महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा, स्पिनर अजंता मेंडिस, तेज गेंदबाज चामिंडा वास, थिलन समरवीरा और थरंगा पारनविताना घायल हुए थे।

श्रीलंकाई खिलाड़ियों को किया गया था एयरलिफ्ट

इस घटना के बाद श्रीलंकाई टीम ने दौरा बीच में ही छोड़ कर वापस लौटने का फैसला लिया था। हमले के बाद श्रीलंका टीम के खिलाड़ियों को एयरलिफ्ट कर एयरपोर्ट पहुंचाया गया था। वहां से टीम सीधा अपने देश रवाना हो गई थी।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप