नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। भारत और श्रीलंका के बीच हाल ही में खेली गई सीमित ओवरों की सीरीज की शुरुआत होने से पहले मेजबान श्रीलंका के खेमे में और सीरीज के बीच में भारत के खेमे में कोरोना के केस सामने आ गए थे। बावजूद इसके इस सीरीज का आयोजन हुआ और दोनों टीमों के बीच तीन मैचों की वनडे और इतने ही मैचों की T20I सीरीज खेली गई। इस सीरीज से श्रीलंका क्रिकेट (SLC) को बहुत मोटी कमाई हुई है।

श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड के सचिव मोहन डिसिल्वा की मानें तो भारत और श्रीलंका के बीच हुई सीमित ओवरों की सीरीज से मेजबान क्रिकेट बोर्ड को 14.5 मिलियन यूएस डालर यानी करीब 107.7 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। दूसरे T20I से पहले क्रुणाल पांड्या के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद सीरीज पर गंभीर संकट था, लेकिन भारत ने अपने सीमित खिलाड़ियों के साथ सीरीज को समाप्त किया, जिसे श्रीलंका ने 2-1 से जीता।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड और श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड ने दौरे को रद करने के बारे में भी सोचा, लेकिन बीसीसीआइ ने हस्तक्षेप किया और शेष दो टी20 इंटरनेशनल मैच योजना के अनुसार खेले गए, लेकिन दूसरा मैच एक दिन के लिए स्थगित किया गया था। अगर भारत बीच में ही सीरीज से हट जाता तो फिर इस स्थिति में श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड को भारी नुकसान होता। भारत ने वनडे सीरीज 2-1 से जीती थी और टी20 सीरीज 1-2 से हारी थी।

मोहन डिसिल्वा ने डेली एफटी को बताया, "FTP (फ्यूचर टूर्स प्रोग्राम) के अनुसार यह दौरा केवल 3 वनडे इंटरनेशनल मैचों के लिए था, लेकिन हमारे अध्यक्ष शम्मी सिल्वा ने BCCI (भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड) के साथ बात करके हमें अतिरिक्त 3 T20I इंटरनेशनल मैचों की सीरीज भी दिलाई। इसी की वजह से बोर्ड को मोटा मुनाफा हुआ है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड के साथ हमने जो संबंध बनाए हैं, उसके कारण यह संभव हुआ। हमें ब्रॉडकास्टिंग और ग्राउंड आदि जैसे अन्य अधिकारों से 14.5 मिलियन यूएस डॉलर मिले।"

उन्होंने आगे कहा, "तथ्य यह है कि बीसीसीआइ और भारत सरकार ने महामारी के समय में अपनी टीम को श्रीलंका आने और अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करने का आशीर्वाद दिया, यह भी बीसीसीआइ के साथ हमारे सौहार्दपूर्ण संबंधों के कारण था।" श्रीलंका क्रिकेट ने सीरीज पूरी करने के लिए बीसीसीआई का शुक्रिया अदा किया, क्योंकि महामारी के दौरान SLC को भारी नुकसान हुआ था और उनकी कई नियोजित सीरीज भी रद हो गई थीं।

Edited By: Vikash Gaur