नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। क्रिकेट के डॉन कहे जाने वाले सर डॉन ब्रैडमैन ने टेस्ट क्रिकेट इतिहास में कई ऐसे रिकॉर्ड बनाए हैं जिन्हें तोड़ पाना नाममुकिन सा लगता है। उन्होंने अपने टेस्ट करियर में करीब 100 के औसत से रन बनाए हैं और उनका ये रिकॉर्ड तोड़ पाना किसी भी खिलाड़ी के लिए बेहद मुश्किल नजर आता है। ब्रैडमैन का जन्म 27 अगस्त 1908 को ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स में हुआ था और उनका निधन 25 फरवरी 2001 को हुआ था। चलिए आपको बताते हैं सर डॉन ब्रैडमैन से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें-

डॉन ने टेनिस भी खेला
सर डॉन ब्रैडमैन जब 10 वर्ष के थे तो वह प्रतिस्पर्धी टेनिस खेलते थे। उनके पिता 1921 में पहली बार उन्हें सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर लेकर गेए और फिर उनका प्रेम क्रिकेट के प्रति बढ़ता ही चला गया।

ब्रैडमैन को सेना से गया था निकाला
सर डॉन ब्रैडमैन 1940 में बतौर लेफ्टिनेंट सेना में शामिल हुए थे। उन्हें फाइब्रोसिसिस से तीन बार पीड़ित होने के बाद 1941 में छुट्टी दी गई थी।

20 साल की उम्र में किया डेब्यू
20 साल की उम्र में उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ खेलने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम में चुना गया। उन्होंने अपना पहला मैच ब्रिस्बेन में खेला था।

कभी स्टंप आउट नहीं हुए
सर डॉन ब्रैडमैन ने अपने टेस्ट करियर में 80 पारियां खेलीं। इन 80 में से 10 पारियों में तो वो नॉट आउट भी रहे। इसमें सबसे खास बात ये है कि वो इन 80 पारियों में एक भी बार स्टंप आउट नहीं हुए।

इस वजह से नहीं बना 100 का औसत
सर डॉन ब्रैडमैन को अपने अंतिम टेस्ट की अंतिम पारी में 100 का बल्लेबाज़ी औसत करने के लिए मात्र चार रन की दरकार थी लेकिन वह 0 पर आउट हो गए। उन्हें लेग स्पिनर इरिक हॉलिस ने क्लीन बोल्ड किया। डॉन ब्रैडमैन ने अपने टेस्ट करियर में 29 शतक और 12 दोहरे शतक बनाए।

ऐसे करने वाले एकलौते ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर
सर डॉन ब्रैडमैन ऐसा एकमात्र ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर हैं जिन्होंने एक अंतरराष्ट्रीय टेस्ट की एक पारी में शतक लगाया और दूसरी पारी में वो शून्य पर आउट हो गए।

रिटायरमेंट के बाद मिली नाइटहुड की उपाधि
1948 में सर डॉन ब्रैडमैन 99.94 के टेस्ट बल्लेबाजी औसत का साथ रिटायर हुए। एक साल बाद उन्हें क्रिकेट के खेल में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए नाइटहुड मिला।

घरेलू क्रिकेट में ऐसा रहा रिकॉर्ड
घरेलू क्रिकेट की बात करें तो सर डॉन ब्रैडमैन ने 95.14 के औसत से 28,067 रन बनाए जिसमें उनका हाई स्कोर 452 नॉट आउट रहा। घरेलू क्रिकेट करियर में उन्होंने 117 शतक लगाए। उनका पूरा करियर देखें तो उन्होंने 52 टेस्ट मैचों की 80 पारियों में 99.94 के औसत से 6,996 रन बनाए। उनके करियर में हाई स्कोर 334 रन का रहा।

संगीत से भी था लगाव
साल 1930 में, डॉन ब्रैडमैन ने पहला गाना, ‘एवरी डे इज रेन्बो डे फॉर मी’ रिकॉर्ड किया था। इसके अलावा उन्होंने बतौर पियानिस्ट दो और गाने भी रिकॉर्ड किए जिनके बोल, ‘एन ओल्ड फैशन्ड लॉकेट और ‘अवर बंगलो ऑफ ड्रीम’ है।

25 फरवरी 2001 को कहा दुनिया को अलविदा
सर डॉन ब्रैडमैन की मृत्यु 92 साल की उम्र में 25 फरवरी 2001 को हुई।

Posted By: Sanjay Pokhriyal