ढ़ाका, प्रेट्र। बांग्लादेश क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शहादत हुसैन (Shahadat Hossain) को बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) ने अपनी टीम के साथी खिलाड़ी से मारपीट करने की वजह से पांच साल के लिए बैन कर दिया है जिसमें दो साल की सजा निलंबित है। शहादत हुसैन ने एक मैच के दौरान अपने साथी खिलाड़ी के साथ ये हरकत की थी। इसके बाद अंपायरों ने उनसे खिलाफ शिकायत की थी जिसमें कहा गया था कि राष्ट्रीय क्रिकेट लीग के मैच के दौरान रविवार को शहादत को अपनी टीम के साथी खिलाड़ी को थप्पड़ और लात मारते देखा गया था। 

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड की तरफ से कहा गया है कि राष्ट्रीय महासंघ ने दो साल के बैन को निलंबित रखा है, लेकिन शारीरिक हमले का आरोप स्वीकार करने वाले इस खिलाड़ी पर तीन लाख टका यानी 3540 डॉलर का जुर्माना भी लगाया गया है। बोर्ड के अधिकारी के मुताबिक राष्ट्रीय क्रिकेट लीग के एक मैच जिसमें ढ़ाका और खुलना आमने-सामने थे, उसमें गेंद को कैसे चमकाया जाए इसे लेकर खिलाड़ियों की आपस में बहस हो गई। इसके बाद 33 साल के शहादत ने टीम के युवा गेंदबाज अराफात सनी जूनियर पर हमला कर दिया था और उन्हें थप्पड़ व लात मारे थे। 

बीसीबी के तकनीकी समिति के प्रमुख मिनहाजुल अबेदिन ने कहा कि उनके पहले के बर्ताव को ध्यान में रखते हुए हमने उन्हें पांच साल के लिए बैन करने का फैसला किया। इस बैन के अंतिम दो साल निलंबित रहेंगे। हालांकि उनपर आजीवन प्रतिबंध भी लग सकता था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। शहादत ने बांग्लादेश के लिए 38 टेस्ट मैच और 51 वनडे मैच खेले थे। 

इससे पहले यानी साल 2015 में शहादत को दो महीने जेल में बिताने पड़े थे जब उनकी पत्नी और उनपर 11 साल की लड़की को प्रताड़ित करने का आरोप लगा था। वो लड़की उनके घर में घरेलू सहायिका को तौर पर काम करती थी। हालांकि बाद में अदालत ने उन्हें बरी कर दिया था। वहीं शहादत साल 2018 में भी चर्चा में आ गए थे जब ढ़ाका में उनकी कार को टक्कर मारने की वजह से उन्होंने एक रिक्शा चालक को पीटा था। यानी शहादत अपनी गलत हरकत की वजह से पहले भी परेशानी में फंस चुके हैं और इस बार वो पांच साल के लिए बैन कर दिए गए। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप