लाहौर, आइएएनएस। आइपीएल के 11वें सत्र से पहले वेस्टइंडीज के करिश्माई ऑफ स्पिनर सुनील नरेन की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इस समय पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) में लाहौर कलंदर्स की ओर से खेल रहे नरेन के एक्शन को संदिग्ध माना गया है। शारजाह में लाहौर कलंदर्स और क्वेटा ग्लेडिएटर्स के मैच के दौरान नरेन के संदिग्ध एक्शन की शिकायत की गई। 

नरेन को इस समय वार्निंग लिस्ट में रखा गया है। इसके मायने यह हैं कि उनका टीम में चयन किया जा सकेगा और वे गेंदबाजी जारी रख सकेंगे। टूर्नामेंट में एक्शन की दूसरी बार शिकायत होने की स्थिति में उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। आइपीएल में सुनील नरेन कोलकाता नाइटराइडर्स (केआर) का हिस्सा हैं। वह टीम के उन दो खिलाडिय़ों में से हैं जिन्हें केकेआर ने रिटेन किया है।

आइसीसी गेंदबाजी एक्शन नियम के अनुसार अगर मैच अधिकारी फिर से उनके गेंदबाजी एक्शन की रिपोर्ट करते हैं तो वह टूर्नामेंट में गेंदबाजी से निलंबित हो जाएंगे। वर्ष 2015 आइपीएल में भी नारायण के गेंदबाजी एक्शन को रिपोर्ट किया गया था।

तकनीकी समिति ने तब उन्हें गेंदबाजी करने से रोक दिया था और इसी साल नवंबर में आइसीसी ने उन्हें संदिग्ध एक्शन के कारण निलंबित कर दिया था। उनके एक्शन की जांच में पाया गया कि उनकी कोहनी सारी गेंद फेंकते हुए 15 डिग्री कोण से ज्यादा मुड़ती है जबकि आइसीसी सिर्फ 15 डिग्री कोहनी मोडऩे तक की अनुमति देता है। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern