नई दिल्ली। धर्मशाला टेस्ट मैच की दूसरी पारी में भारतीय गेंदबाजों ने गजब का प्रदर्शन किया। इस पारी में कंगारू बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के सामने पूरी तरह से पस्त दिखे और पूरी की पूरी टीम 137 रन पर आउट हो गई। भारतीय गेंदबाजों के इस प्रदर्शन के बाद अब टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने की कगार पर है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरी पारी में भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन ने 16 वर्षों के बाद किसी टेस्ट सीजन में ये कमाल किया। 

भारतीय धरती पर 16 वर्षों के बाद हुआ ये कमाल

धर्मशाला टेस्ट मैच की दूसरी पारी में तीन भारतीय गेंदबाजों उमेश यादव, रवींद्र जडेजा और आर. अश्विन ने तीन-तीन विकेट लिए। इससे पहले भारतीय गेंदबाजों ने इसी टेस्ट सीजन में न्यूजीलैंड के खिलाफ ईडन गार्डन में खेले गए टेस्ट मैच की दूसरी पारी में तीन-तीन विकेट लिए थे। न्यूजीलैंड के खिलाफ मो. शमी, आर. अश्विन और रवींद्र जडेजा ने ये कमाल किया था। यानी भारतीय गेंदबाजों ने इस टेस्ट सीजन में अपनी सरजमीं पर दो बार ये कमाल किया जब उन्होंने टेस्ट मैच की दूसरी पारी में तीन या उससे ज्यादा विकेट झटके। इस टेस्ट सीजन से पहले वर्ष 2000 में भारतीय गेंदबाजों ने ये कमाल किया था। 

धर्मशाला टेस्ट की दूसरी पारी में उमेश, अश्विन और जडेजा का प्रदर्शन

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच की दूसरी पारी में उमेश यादव ने 10 ओवर में 29 रन देकर 3 विकेट लिए थे। रवींद्र जडेजा ने 18 ओवर में 24 रन देकर 3 विकेट चटकाए जबकि आर. अश्विन ने 13.5 ओवर में 29 रन देकर 3 बल्लेबाजों को आउट किया। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern