नई दिल्ली, जेएनएन। India vs South Africa 1st test match: भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने टेस्ट क्रिकेट में अपना डेब्यू बेहद धमाकेदार तरीके से किया था। हालांकि बाद में टेस्ट क्रिकेट में उनका प्रदर्शन फीका रहा था और फिर उन्हें बेहद कम मौके मिलने लगे। पर अब समय ही कुछ ऐसा आ गया कि सेलेक्टर्स, कप्तान व टीम मैनेजमेंट के पास उनपर भरोसा करने के अलावा और कोई रास्ता ही नहीं बचा था। रोहित पर भरोसा जताया गया और उन्होंने अपने बतौर ओपनर अपने डेब्यू टेस्ट मैच में साउथ अफ्रीका के खिलाफ दोनों पारियों में शतक लगाते हुए टीम इंडिया के लिए मैच विनर बने। 

रोहित के साथ हुआ कमाल का संयोग

रोहित शर्मा ने वर्ष 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ जब अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी तब उन्होंने 177 रन की पारी खेली थी । इस पारी की वजह से उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। इसके बाद यानी छह वर्ष के बाद उन्हें 2019 में भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका दिया गया और अपनी दो शतकीय पारी के दम पर वो मैन ऑफ द मैच बने। यानी रोहित ने अपने टेस्ट डेब्यू मैच और बतौर ओपनर अपने डेब्यू टेस्ट मैच दोनों में ही मैन ऑफ द मैच का खिताब जीतने का कमाल कर दिखाया। रोहित शर्मा ने इस मैच की पहली पारी में 176 रन और दूसरी पारी में 127 रन बनाए थे। 

सहवाग के बराबरी रोहित ने 11 साल के बाद की

रोहित शर्मा के पहले वीरेंद्र सहवाग (Sehwag) ही एकमात्र ऐसे भारतीय ओपनर बल्लेबाज थे जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैन ऑफ द मैच का खिताब जीता था। वीरेंद्र सहवाग ने ये कमाल साल 2008 में किया था। अब लगभग 11 वर्ष के बाद रोहित शर्मा ने सहवाग की बराबरी की और टेस्ट क्रिकेट में ओपनर बल्लेबाज के तौर पर मैन ऑफ द मैच का खिताब जीतने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज बने। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस