नई दिल्ली, [रवीन्द्र प्रताप सिंह]। सबसे कम उम्र में अपने डेब्यू टेस्ट में शतक बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ का आज 19वां जन्मदिन हैं। हालांकि भारत की ओर से सबसे कम उम्र में शतक बनाने का रिकॉर्ड अभी भी सचिन तेंदुलकर के नाम पर दर्ज है। पिछले एक साल से वो अपने जोरदार प्रदर्शन के दम पर मीडिया की सुर्खियों में छाए हैं। उन्हें छोटी उम्र में बड़े कारनामों के लिए जाना जाता है। पृथ्वी शॉ मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं, शॉ के जन्म से पहले ही उनके पिता महाराष्ट्र शिफ्ट हो गए थे। जब वो महज 4 बरस के थे तभी उनके सिर उनकी मां का साया उठ गया था।

भारत के दौरे पर आई वेस्टइंडीज टीम को तीनों सीरीज में शिकस्त देने के बाद भारत का अगला दौरा ऑस्ट्रेलिया का होगा जहां पृथ्वी शॉ को बहुत अहम खिलाड़ी के रूप में देखा जा रहा है। आज उनके जन्मदिन के मौके पर हम बताते हैं आपको पृथ्वी शॉ की कुछ बड़ी बातें जो उन्हें भविष्य में बड़ा खिलाड़ी बनने की ओर इशारा करती हैं।

ऐसे सुर्खियों में आए थे पृथ्वी शॉ

कहावत है कि 'होनहार बिरवान के होत चिकने पात' यह कहावत पृथ्वी पर एकदम चरितार्थ होती है जब उन्होंने साल 2013 में  महज 14 साल की उम्र के पृथ्वी शॉ हैरिस शील्ड टूर्नामेंट में 546 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेल कर विश्व क्रिकेट में अपने आगमन का संदेश दे दिया था।

अंडर-19 टीम को बनाया विश्व चैंपियन
अपने गुरू और पूर्व टेस्ट क्रिकेटर राहुल द्रविड़ की देख-रेख में पृथ्वी ने अपने दम पर भारत को अंडर-19 विश्वकप का विजेता बनाया इस टूर्नामेंट में टीम इंडिया ने किसी भी मैच में हार का मुंह नहीं देखा। इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम की कप्तानी करते हुए शॉ ने चौथी बार यह खिताब देश देश के नाम किया। इसके साथ ही अंडर-19 विश्वकप सबसे ज्यादा बार जीतने वाला भारत पहला देश बन गया। 

पृथ्वी शॉ ने बनाया डेब्यू मैचों में शतक लगाने का रिकॉर्ड
पृथ्वी शॉ ने जनवरी 2017 में रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल मैच में अपना डेब्यू किया और शतक लगाकर रणजी ट्रॉफी में आगाज किया इसके बाद दिलीप ट्रॉफी में सितंबर 2017 में उन्होंने डेब्यू किया और फाइनल खेलते हुए शानदार शतक जमाया इसके बाद भा
रत के दौरे पर आई कैरेबियाई टीम के खिलाफ टेस्ट मैच में डेब्यू करते हुए पृथ्वी शॉ ने 4 अक्टूबर, 2018 को शतक लगाया था और इसके साथ ही वो भारत की तरफ से डेब्यू मैच में सबसे कम उम्र में शतक लगाने वाले खिलाड़ी बन गए थे।

कम उम्र में शतक बनाने वाले सचिन के बाद दूसरे भारतीय
पृथ्वी शॉ के नाम भारत की तरफ से सचिन तेंदुलकर के बाद सबसे कम उम्र में शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है। पृथ्वी शॉ ने यह शतक 18 साल और 329 दिनों की उम्र में बनाया। वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट के मैदान पर शॉ ने 134 रनों की बेहतरीन पारी खेली, इस पारी में उन्होंने 154 गेंदों का सामना किया और 19 बार गेंद को सीमा रेखा के बाहर भेजा। 

आइपीएल और काउंटी में भी दिखाया जलवा
पृथ्वी शॉ को साल 2018 में उनके बेहतरी प्रदर्शन के दम पर आइपीएल की नीलामी में दिल्ली डेयरडेविल्स ने  1.2 करोड़ रुपये में खरीदा। आइपीएल के अपने पहले ही मैच में पृथ्वी ने अपनी उपयोगिता साबित कर दिल्ली के फैसले को एकदम सही ठहराया और बेहतरीन अर्धशतक लगाकर आइपीएल का शानदार आगाज किया। इसके अलावा जब पृथ्वी शॉ को इंग्लैंड काउंटी में लीसेस्टरशायर ने अपनी टीम में शामिल किया तो वहां भी शॉ ने 132 रनों की धमाकेदार पारी खेलकर  अपनी छाप छोड़ी। शॉ की इन बातों से हम ये अंदाजा लगा सकते हैं कि पृथ्वी शॉ जिस तरह से छोटी सी उम्र में बड़े कारनामे कर दिखाएं हैं उससे हर भारतीय क्रिकेट प्रेमी को ये उम्मीद है कि वो आने दिनों क्रिकेट की बुलंदियों को छूकर बड़ा  इतिहास रचेंगे। 

Posted By: Ravindra Pratap Sing