नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय क्रिकेट बोर्ड को दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड में गिना जाता है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने हाल ही में अपने खिलाड़ियों के सालाना करार की रकम में इजाफा करने की घोषणा की। पिछली बार के करार की तुलना में अब से पाकिस्तानी खिलाड़ियों को 10 फीसदी ज्यादा सैलरी मिलने वाली है। पाक खिलाड़ियों के करार 1 जुलाई से लागू होंगे।

पाकिस्तान के खिलाड़ियों के लिए नया सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट जारी किया गया है जिसमें सैलरी में 10 फीसदी तक इजाफा किया गया है। पाकिस्तान की मीडिया में चल रही रिपोर्ट के मुताबिक यह सालाना कॉन्ट्रैक्ट खिलाड़ियों को लाहौर कैंप में दिए जा चुके हैं। जानकारी के मुताबिक कई खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्होंने इसपर अपने साइन कर दिए हैं जबकि कुछ ने इसके रिव्यू की मांग की थी लेकिन कॉन्ट्रैक्ट पर सभी ने साइन कर दिया है।

खिलाड़ियों की सैलरी कितनी मिलेगी

पाकिस्तान के खिलाड़ियों को अब टीम की तरफ से एक टेस्ट मैच खेलने के लिए 762,300 से 8,38,000 तक की रकम दी जाएगी। बात वनडे क्रिकेट की करें तो हर एक मैच के लिए 5,15,000 पाकिस्तानी रुपये गिए जाएंगे। पिछले करार में वनडे मुकाबले के लिए एक खिलाड़ी को 468,815 पाकिस्तानी रुपये बतौर मैच फीस मिलते थे। टी20 में अब एक मैच के लिए प्रत्येक खिलाड़ी को 3,72,075 रुपये दिए जाएंगे जो पिछले सीजन 3,38,250 रुपये थे।

भारतीय खिलाड़ियों के सालाना कॉन्ट्रैक्ट

बीसीसीआइ भारतीय खिलाड़ियों के हर साल चार कैटेगरी में करार की घोषणा करती है। एक प्लस में जिन टॉप खिलाड़ियों को रिटेन किया जाता है उनको साल भर के लिए 7 करोड़ रुपये सालाना सैलरी मिली है। इससे नीचे ए कैटेगरी में शामिल खिलाड़ियों को रिटेंशन फीस 5 करोड़ रुपये दी जाती है जबकि बी में शामिल खिलाड़ी 3 और सी कैटेगरी को 1 करोड़ की सैलरी मिलती है।

भारतीय खिलाड़ियों की मैच फीस

बीसीसीआई भारतीय खिलाड़ियों को टेस्ट खेलने पर 15 लाख, वनडे खेलने पर 6 लाख और टी20 खेलने पर 3 लाख रुपये देती है। तुलना करें तो पाकिस्तान के क्रिकेटर जितनी मैच फीस 5 टेस्ट मैच खेलने के बाद हासिल करते हैं इतने पैसे भारतीय खिलाड़ियों को एक मैच खेलने के बाद ही मिल जाते हैं।

Edited By: Viplove Kumar