नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। 24 फरवरी का दिन क्रिकेट प्रेमियों के लिए कभी न भूलने वाला दिन बन गया तो इसके पीछे की वजह थे महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर जिन्होंने पहली बार वनडे क्रिकेट में 200 रन की ऐतिहासिक पारी खेली। इस बात को भले ही 12 साल का लंबा वक्त बीत गया हो लेकिन क्रिकेट प्रेमियों के लिए आज भी वो दिन रोमांच पैदा करती है।

साउथ अफ्रीका के खिलाफ ग्वालियर के कैप्टन रूप सिंह स्टेडियम में खेला गया यह मैच और मैचों की तरह एक आम मैच होता लेकिन सचिन कुछ और ही सोच कर आए थे। सचिन ने इस मैच में केवल 147 गेंदों पर नाबाद 200 रन की पारी खेली। इस पारी में सचिन ने 25 चौकों के साथ 3 छक्के भी लगाए। सचिन की इस ऐतिहासिक पारी के दम पर भारत ने न केवल 3 विकेट पर 401 रन बनाए बल्कि साउथ अफ्रीका की टीम को 153 रनों के बडे अंतर से हराया। 

सचिन की ये पारी इसलिए भी अहम थी क्योंकि पहली बार वनडे में यह कारनामा किया गया था। सचिन ने बाकी बल्लेबाजों के लिए एक राह बना दी थी कि वनडे में 200 का आंकड़ा भी छूआ जा सकता है। भारत की तरफ से वीरेंद्र सहवाग ऐसा करने वाले दूसरे बल्लेबाज बने जबकि इस रिकार्ड को और बेहतर करते हुए हिटमैन रोहित शर्मा ने तीन बार दोहरा शतक लगाया।

अब तक वनडे में कुल छह बल्लेबाजों ने दोहरा शतक बनाया है। इसमें से तीन भारतीय हैं और सबसे ज्यादा दोहरा शतक भी भारतीय के नाम दर्ज है। भारत के सचिन तेंदुलकर (2010), वीरेंद्र सहवाग (2011), रोहित शर्मा (2013, 2014, 2017), वेस्टइंडीज के क्रिस गेल (2015), न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल (2015), पाकिस्तान के फखर जमां (2018) ने यह कमाल किया है। 

वर्तमान में वनडे में सर्वाधिक व्यक्तिगत रनों का रिकार्ड रोहित शर्मा के नाम है जिन्होंने 2014 में श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता में 173 में 264 रनों की पारी खेली थी। इस सूची में दूसरे नंबर पर न्यूजीलैंड के बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल हैं जिनके नाम 237 की पारी खेलने का रिकार्ड है जो उन्होंने 2015 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली थी।

Edited By: Jagran News Network