नई दिल्ली, [जागरण स्पेशल]। लॉर्ड्स में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच मुरली विजय ने एक ऐसा अनचाहा रिकॉर्ड बना दिया जिसे कोई भी खिलाड़ी कभी नहीं बनाना चाहेगा। मुरली विजय को इस टेस्ट मैच की दोनों पारियों में इंग्लैंड के तेज़ गेदबाज़ जेम्स एंडरसन ने आउट किया और खास बात ये रही की इन दोनों ही पारियों में मुरली विजय खाता तक खोलने में नाकाम रहे। यानि इस टेस्ट मैच में विजय नें शून्य का 'पेयर' बना दिया।   

विजय ने बनाया ये रिकॉर्ड

लार्ड्स टेस्ट की दूसरी पारी में शून्य पर आउट होते ही विजय ने एक अनचाहा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। वो भारत की ओर से छठे सलामी बल्लेबाज बने जो किसी टेस्ट की दोनों पारियों में बिना खाता खोले आउट हुए हों। उनसे पहले इस समूह में पंकज रॉय, फारूख इंजीनियर, वसीम जाफर, वीरेंद्र सहवाग और शिखर धवन शामिल थे।

टेस्ट में दोनों पारियों में शून्य पर आउट होने वाले भारतीय ओपनर

पंकज रॉय बनाम इंग्लैंड, मैनचेस्टर 1952

फारुख इंजीनियर बनाम वेस्टइंडीज, मुंबई 1975

वसीम जाफर बनाम बांग्लादेश, चिटगांव 2007

वीरेंद्र सहवाग बनाम इंग्लैंड, एजबेस्टन 2011

शिखर धवन बनाम द. अफ्रीका, मोहाली 2015

मुरली विजय बनाम इंग्लैंड लॉर्ड्स 2018

मुरली पर है एंडरसन का खौफ

ऐसा लगता है जैसे ही एंडरसन गेंदबाज़ी करने के लिए आते हैं मुरली विजय सहम जाते है। टेस्ट क्रिकेट में विजय को सबसे ज़्यादा बार आउट करने का रिकॉर्ड भी जेम्स एंडरसन के नाम है। एंडरसन ने विजय को सात बार आउट किया है। एंडरसन ने पहली पारी में विजय को बोल्ड कर उनकी गिल्लियां बिखेर दी थी, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने अपनी इनस्विंगर पर विजय को विकेटकीपर बेयरस्टो के हाथों झिलवाया। पहली पारी में मुरली विजय पांच गेंद ही खेल सके थे, तो दूसरी पारी में वो आठ गेंदों का सामना करने के बाद आउट हो गए।

 

विजय को सबसे ज़्यादा बार आउट करने वाले गेंदबा़ज (टेस्ट में)

7- जेम्स एंडरसन

6- मोर्ने मोर्कल

5- रवि रामपॉल

5- शेन वॉटसन, जोस हेडलवुड़

पिछले 10 पारियों में मुरली विजय का हाल 

वास्तव में जब बात दूसरी पारी की आती है, तो मुरली विजय पिछली दस पारियों में कितने औंधे मुंह गिरे हैं, यह आप देखिए

3, 0, 7, 2, 8, 9, 13, 9, 25, 6

वास्तव में, मुरली विजय की अभी तक की नाकामी बहुत ही हैरान कर देने वाली है। कारण यह है कि साल 2014 में इंग्लैंड दौरे में मुरली विजय 5 टेस्ट की 10 पारियों में 40.20 के औसत से 402 रन बनाकर सर्वश्रेष्ठ भारतीय बल्लेबाज रहे थे। लेकिन इस बार मुरली का बल्ला इंग्लैंड के गेंदबाज़ों पर विजय पाने में नाकाम ही साबित हुआ है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal