नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के विकेट कीपर महेंद्र सिंह धौनी श्रीलंका के खिलाफ खेले गए एकमात्र टी20 मैच में धाकड़ कीपिंग के जरिए अपनी दमदार मौजूदगी का अहसास करवाया। धौनी अपनी तेजी और चालाक सोच के जरिए क्रिकेट की दुनिया को चौंका दिया और इस बार उनकी लाजवाब कीपिंग का शिकार बने श्रीलंका के एंजेलो मैथ्यूज। 

दरअसल इस मैच में हुआ ये कि युजवेंद्र चहल पावरप्ले के बाद अपना पहला ओवर फेंकने आए। उस वक्त युजवेंद्र का सामना एंजेलो मैथ्यूज कर रहे थे। मैथ्यूज ने युजवेंद्र के पहले चार गेंदों का सामना करते हुए एक चौका लगाया। इसके बाद चहल ने अपनी पांचवीं गेंद मैथ्यूज को फेंकी जो एक फ्लाइटेड डीलिवरी थी। यह गेंद बल्ले के बाहरी किनारे को मिस करती हुई निकल गई और यहां इस बात को कोई नोटिस कर पाता उससे पहले धौनी ने गेंद को स्टंप पर मार दिया और अंपायर से स्टंप की अपील कर दी। रिप्ले से पता चला कि ये सारी घटनाएं इतनी तेजी से हुई कि किसी को कुछ समझ ही नहीं आया। धौनी ने बेहद तेज गति से गेंद को कलेक्ट किया और बेल्स को अपनी जगह से हटा दिया। इसके कुछ देर बाद टीवी अंपायर ने सब कुछ देखने के बाद फैसला भारत के पक्ष में दिया और मैथ्यूज को पवेलियन वापस जाना पड़ा। उस वक्त मैथ्यूज ने 5 गेंदों पर 7 रन बनाए थे। 

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान धौनी वनडे इतिहास के पहले ऐसे विकेट कीपर बने जिन्होंने 100 खिलाड़ियों को स्टंप आउट किया हो। इसके अलावा धौनी ने टेस्ट में 38 जबकि टी20 में 24 खिलाड़ियों को अब तक स्टंप किया है। भारत का ये 36 वर्षीय विकेट कीपर क्रिकेट के तीनों प्रारूपों को मिलाकर अब तक 162 स्टंप कर चुका है और वो दुनिया के पहले ऐसे विकेट कीपर हैं जिन्होंने विकेट के पीछे इतने स्टंप किए हैं। 

धौनी ने सबसे ज्यादा स्टंपिंग (19) हरभजन सिंह की गेंदों पर किए हैं। इसके बाद उन्होंने अब तक 15 स्टंपिंग रविंद्र जडेजा और 14 स्टंपिंग आर. अश्विन की गेंदों पर किए हैं। धौनी के इस मैजिकल स्टंपिंग के बाद ट्विटर पर उनके फैंस ने उनकी जमकर प्रशंसा की। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप