नई दिल्ली/कोलकाता, जेएनएन। क्रिकेटर मोहम्मद शमी पर इन दिनों उनकी पत्नी हसीन जहां एक के बाद एक संगीन आरोप लगा रही हैं। इन दोनों के बीच विवाद कम होने की जगह बढ़ता ही जा रहा है। इस विवाद के सामने आने के बाद शमी को काफी नुकसान हो चुका है। बीसीसीआइ ने उनके अनुबंध को होल्ड पर डाल दिया है, तो वहीं उनके आइपीएल में खेलने पर भी अभी तक सस्पेंस बना हुआ है।

क्रिकेटर शमी के बारे में तो सभी जानते हैं, लेकिन उनकी पत्नी हसीन जहां के बारे में बहुत से ऐसे राज़ है जो अभी तक पर्दे के पीछे ही हैं। अब धीरे-धीरे हसीन जहां कि जिंदगी के बारे में भी कई राज खुल रहे हैं। एक साधारण से परिवार से ताल्लुक रखने वाली हसीन जहां कैसे एक भारतीय तेज़ गेंदबाज़ की बेगम बन गई। 

साधारण परिवार में हुआ हसीन का जन्म

हसीन जहां का जन्म एक साधारण से परिवार में हुआ। हसीन के पिता ट्रांसपोर्ट का काम करते हैं। उनके परिवार में उनके अलावा उनकी दो और बहनें हैं। उनकी बड़ी बहन दिल्ली में रहती है और छोटी बहन पश्चिम बंगाल के बीरभूम में रहती हैं। हसीन के पिता ने एक बार एक साक्षात्कार में बताया कि उनकी बेटी बचपन से ही पढ़ाई और स्पोर्ट्स में अच्छी थी। हसीन की शुरु से इच्छा थी कि वो अपने पैरों पर खड़ी हों। इतना ही नहीं उसने जिला स्तर पर कई अवॉर्ड भी जीते। साथ ही वह जब छोटी थी तभी से अन्याय और गलत के खिलाफ रही।

हसीन ने की एक टॉफी बेचने वाले से शादी 

मोहम्मद शमी की बेगम बनने से पहले हसीन जहां ने 2002 में एक परचून की दुकान चलाने वाले शख्स से शादी कर ली थी। खास बात ये है कि हसीन की पहली शादी लव मैरिज थी। उन्हें दसवीं कक्षा में पढ़ते हुए शेख सैफुद्दीन से प्यार हो गया था। कुछ समय के बाद शेख सैफुद्दीन ने हसीन जहां को प्रपोज किया और दोनों ने 2002 में शादी कर ली।

8 साल चला हसीन का पहला निकाह

2002 में हसीन ने शेख सैफुद्दीन से शादी तो कर ली, लेकिन इन दोनों का निकाह बहुल लंबा नहीं चल सका। 8 साल के बाद ही इन दोनों की नज़दीकियां-दूरियों में बदल गई और 2010 में दोनों का तलाक हो गया। हसीन के पहले पति सैफुद्दीन और सैफुद्दीन की दो बेटियां भी हैं। बड़ी बेटी दसवीं और छोटी बेटी छठी कक्षा में पढ़ती हैं। सैफुद्दीन का कहना है कि हसीन हफ्ते में दो-तीन बार फोन कर अपनी दोनों बेटियों से बात कर लेती हैं लेकिन सैफुद्दीन का हसीन के कोई ताल्लुकात नहीं है।

क्या ये थी हसीन के तलाक की वजह?

हसीन के पहले पति सैफुद्दीन ने कहा कि बहुत महत्वाकांक्षी महिला है। अब हसीन से मेरा कोई संपर्क नहीं है। मेरी बेटियां अक्सर अपनी मां के संपर्क में रहती हैं। शेफुद्दीन ने बताया कि हसीन अपने पैर पर खड़ा होना चाहती थी, लेकिन हमारे घर की महिलाओं को नौकरी करने की इजाजत नहीं है। शायद यही पाबंदी हसीन को नापसंद थी।

इस तरह हसीन बनी शमी की बेगम

2010 में सैफुद्दीन से तलाक होने का बाद हसीन ने अपनी जिंदगी में आगे बढ़ने का फैसला किया। 2014 में हसीन आइपीएल में चीयरलीडर का काम कर रही थी। आइपीएल के दौरान ही हसीन और मोहम्मद शमी की मुलाकात हुई। इस मुलाकात के बाद दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ गई।  हसीन ने इसके बाद कोलकाता में रहना शुरू कर दिया और फिर दोनों ने निकाह कर लिया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal