डरबन। डेविड मिलर के तूफानी नाबाद शतक (118) से दक्षिण अफ्रीका ने डरबन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे में इतिहास रच दिया। द. अफ्रीका ने कंगारुओं के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट इतिहास का दूसरा बड़ा लक्ष्य (372) हासिल किया।

ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान स्टीव स्मिथ (108) और डेविड वॉर्नर (117) के शतकों से 6 विकेट पर 371 रन बनाए। जवाब में द. अफ्रीका ने मिलर और एंडिले फेलुकवायो (42 नाबाद) के बीच सातवें विकेट के लिए हुई अविजित शतकीय भागीदारी (105) की मदद से रिकॉर्ड जीत दर्ज की। रनों से भरे इस मैच में रिकॉर्ड्स का अंबार लगा। आइए नजर डालते हैं इस मैच में बने कीर्तिमानों पर..

दूसरा बड़ा लक्ष्य हासिल किया

द. अफ्रीका ने इस मैच में अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट इतिहास का दूसरा बड़ा लक्ष्य हासिल किया। ऑस्ट्रेलिया के 371/6 के जवाब में द. अफ्रीका ने 6 विकेट पर 372 रन बनाते हुए जीत दर्ज की। सबसे बड़ा लक्ष्य (435) हासिल करने का रिकॉर्ड भी 10 वर्ष पूर्व द. अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही बनाया था।

दूसरी पारी में तीसरा बड़ा स्कोर

द. अफ्रीका ने बाद में बल्लेबाजी करते हुए 372 रन बनाकर मैच जीता, जो किसी भी अंतरराष्ट्रीय वनडे में बाद में बल्लेबाजी करते हुए बनाया गया तीसरा बड़ा स्कोर है। इससे पहले द. अफ्रीका ने 2006 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कीर्तिमान चेज (438/9) हासिल किया था। इसके अलावा 2009 में भारत के खिलाफ बाद में खेलते हुए 411 रन बनाकर भी श्रीलंका हार गया था।

पांचवां मौका

ऑस्ट्रेलिया के लिए किसी पांच वन-डे मैचों की सीरीज के शुरुआती तीन मैच हारने का यह पांचवां मौका है। इससे पहले उसके साथ इस तरह तीन बार इंग्लैंड के और एक बार न्यूजीलैंड के खिलाफ ऐसा हो चुका है।

स्टेन सबसे महंगे

दक्षिण अफ्रीका ने भले ही यह मैच जीता, लेकिन डेल स्टेन उसके सबसे महंगे वन-डे गेंदबाज बने। स्टेन ने 96 रन देकर 2 विकेट लिए। इससे पहले द. अफ्रीका की तरफ से किसी वन-डे में सबसे ज्यादा रन देने का रिकॉर्ड वेन पार्नेल के नाम दर्ज था जब उन्होंने 2010 में ग्वालियर में भारत के खिलाफ 95 रन दिए थे।

द. अफ्रीका की तरफ से सातवां तेज शतक

मिलर ने इस मैच विजयी पारी के दौरान 69 गेंदों में शतक लगाया। यह द. अफ्रीका की तरफ से वनडे में सातवां तेज शतक है। इससे तेज छह शतकों में से पांच एबी डी’विलियर्स के नाम पर है। वैसे यह किसी द. अफ्रीकी बल्लेबाज का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे तेज वन-डे शतक है। इससे पहले यह रिकॉर्ड क्विंटन डी कॉक के नाम दर्ज था, जिन्होंने 74 गेंदों में शतक बनाया था।

जीत में दूसरा महंगी गेंदबाजी

द. अफ्रीका के स्टेन ने इस मैच में 96 रन दिए जो किसी गेंदबाज द्वारा टीम की जीत में की गई दूसरी महंगी गेंदबाजी है। यह रिकॉर्ड विनय कुमार के नाम दर्ज है जब उन्होंने 2013 में बेंगलुरू में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली जीत में 102 रन दिए थे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप