तिरुवनंतपुरम, जेएनएन। इंडिया-ए और इंग्लैंड लॉयंस के बीच खेले गए आखिरी अनाधिकारिक वनडे मैच में इंडिया-ए को एक विकेट से हरा का सामना करना पड़ा। इस मुकाबले में लोकेश राहुल एक बार फिर से फ्लॉप साबित हुए। इस मैच में तो राहुल अपना खाता तक खोलने में नाराम रहे। राहुल का फॉर्म पिछले कुछ समय से काफी खराब चल रहा है। आखिर इस बल्लेबाज़ को हो क्या गया है।

राहुल का फॉर्म रहा है बेहद खराब

इससे कुछ दिन पहले राहुल पर बीसीसीआइ ने एक टीवी शो कॉफी विद करन शो में महिलाओं पर टिप्पणी करने को लेकर हुए विवाद के बाद बैन लगा दिया था। उससे पहले भी ऑस्ट्रेलिया में राहुल का फॉर्म खराब ही रहा था। राहुल ने एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट में 2 और 44 रन बनाए थे। पर्थ में खेले गए दूसरे मैच में वो 2 और शून्य पर आउट हुए। सिडनी में खेले गए तीसरे मैच में राहुल नौ रन बनाकर अपना विकेट गंवा बैठे। इससे पहले भी राहुल का फॉर्म खराब ही रहा था। 

बैन हटने के बाद भी नहीं बदली किस्मत

राहुल से बैन हटा तो उन्हें इंडिया ए के लिए इंग्लैंड लॉयंस के खिलाफ खेलने का मौका मिला। इस सीरीज़ में खेले अपने पहले मैच में वो 13 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद अगले मुकाबले में उन्होंने थोड़े धैर्य से बल्लेबाज़ की और 42 रन बनाए, लेकिन तीसरे मैच में फिर से वो खाता तक नहीं खोल सके।

इंग्लैंड लॉयंस ने ऐसे जीता मैच 

बेन डकेट (70) के नाबाद अर्धशतक के दम पर इंग्लैंड लॉयंस ने गुरुवार को खेले गए आखिरी अनाधिकारिक वनडे मैच में इंडिया-ए को एक विकेट से हराया। ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भले ही इंग्लैंड लॉयंस ने जीत हासिल की हो लेकिन पांच मैचों की इस सीरीज को इंडिया-ए ने 4-1 से अपने नाम किया है।

इंडिया-ए ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पारी में 120 रनों का स्कोर बनाया। टीम की पारी की शुरुआत बेहद खराब हुई। 50 के स्कोर से पहले ही मेजबान टीम ने लोकेश राहुल (0), हिम्मत सिंह (3), कप्तान अंकित बावने (0), ऋषभ पंत (7) और इस पारी में सबसे अधिक रन बनाने वाले सिद्धेश लाड (36) के रूप में अपने पांच विकेट गंवा दिए थे।

इसके बाद, भी इंडिया-ए के विकटों का गिरना जारी रहा। इस बीच दीपक हुड्डा (23) और दीपक चहर (21) ने टीम की पारी को संभालने की कोशिश की लेकिन उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई और मेजबान टीम की पारी 120 रनों पर समाप्त हो गई।

इस पारी में इंग्लैंड लॉयंस के लिए जैमी ओवर्टन ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए। इसके अलावा, टॉम बेली को दो सफलताएं मिलीं। लेविस ग्रेगोरी, मैथ्यू कार्टर और स्टीवन मुलानी एक-एक विकेट लेने में सफल रहे।

इंडिया-ए की ओर से मिले 121 रनों के लक्ष्य को हासिल करने उतरी इंग्लैंड लॉयंस के लिए भी पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही लेकिन बेन की नाबाद अर्धशतकीय पारी से उसने इस स्कोर को हासिल कर लिया।

बेन के अलावा इंग्लैंड लॉयंस का कोई भी अन्य बल्लेबाज 10 से अधिक रन नहीं बना सका।

इस पारी में इंडिया-ए के लिए दीपक और राहुल चहर ने तीन-तीन विकेट लिए, वहीं अक्षर पटेल को दो विकेट मिले। शार्दुल ठाकुर को एक सफलता हाथ लगी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप