संजय सावर्ण, नई दिल्ली। भारत व श्रीलंका के बीच 12 अगस्त की तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला खेला जाएगा। श्रीलंका के लिहाज से ये मुकाबला काफी अहम है क्योंकि मेजबान टीम इस मैच को जीतकर अपनी इज्जत बचाना चाहेगी। वैसे भारतीय टीम ये टेस्ट सीरीज जीत चुकी है और उसकी कोशिश होगी कि वो इस मैच को जीतकर श्रीलंका का क्लीन स्वीप कर इतिहास रचे साथ ही अपनी जीत की लय को बरकरार रखे। इस टेस्ट मैच में एक ऐसा मुकाबला देखने को भी मिल सकता है जो क्रिकेट के मैदान पर शायद बेहद कम देखने को मिला हो। 

एक मैच, दो चाइनामैन

भारत व श्रीलंका दोनों टीमों में इस वक्त एक-एक चाइनामैन गेंदबाज मौजूद हैं। हालांकि दोनों देशों के बीच इस टेस्ट सीरीज के दो मुकाबले खेले जा चुके हैं और इन दोनों चाइनामैन को किसी भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला। भारत के चाइनामैन कुलदीप यादव और श्रीलंका के चाइनामैन लक्षण संदाकन दोनों को अगर आखिरी टेस्ट मैच में अपनी-अपनी टीम की तरफ से खेलना का मौका मिला तो ये क्रिकेट के कुछ विलक्षण पल में से एक साबित हो सकता है। दरअसल ऐसा बेहद कम मौका आया है जब किसी मैच में दोनों टीमों की तरफ से एक-एक चाइनामैन गेंदबाज खेले हों। पल्लेकल इस ऐतिहासिल पल का गवाह बन सकता है लेकिन उसके लिए जरूरी है कि दोनों खिलाड़ियों को अपनी-अपनी टीमों की तरफ से खेलने का मौका मिले। 

पल्लेकल में लक्षण संदाकन का कमाल का रिकॉर्ड

भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा टेस्ट मैच पल्लेकल में खेला जाएगा। श्रीलंका के चाइनामैन गेंदबाज संदाकन के लिए ये मैदान काफी लकी रहा है। इन्होंने अपने टेस्ट करियर का आगाज इसी मैदान पर पिछले वर्ष किया था और ऑस्ट्रेलिया का खिलाफ इस चाइनामैन गेंदबाज ने 107 रन देकर 7 विकेट लिए थे। ये किसी भी चाइनामैन गेंदबाज द्वारा अपने टेस्ट डेब्यू में किया गया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। 

जबरदस्त मुकाबले की उम्मीद

कुलदीप और संदाकन अगर तीसरे टेस्ट मैच में एकसाथ खेलते हैं तो इसमें कोई शक नहीं कि क्रिकेट फैंस के लिए ये कभी नहीं भूलने वाला मुकाबला साबित हो सकता है। इस मैच में पहले तो दोनों टीमें की तरफ से चाइनामैन गेंदबाज खेलेंगे साथ ही विकेट लेने के मामले में और खुद को साबित करने के मामले में भी इनमें अच्छी टक्कर देखने को मिलेगा। 

संदाकन और कुलदीप का क्रिकेट करियर

संदाकन के टेस्ट क्रिकेट करियर की बात करें तो उन्होंने अब तक कुल 5 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने कुल 15 विकेट लिए हैं जबकि कुलदीप यादव ने अपने टेस्ट करियर में सिर्फ एक टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम पर सिर्फ चार विकेट हैं। 

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस