नई दिल्ली, जेएनएन। इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन के 50वें मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब की टीम को 7 विकेट से हराया। यह जीत प्लेऑफ में बने रहने के लिए राजस्थान के लिए काफी जरूरी थी और टीम ने इसे जीतकर अपनी उम्मीदें जिंदा रखी। पंजाब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 4 विकेट पर 185 रन बनाए थे जवाब में राजस्थान ने 3 विकेट खोकर जीत का लक्ष्य हासिल किया।

शुक्रवार (30 अक्टूबर) को राजस्थान की टीम ने करो या मरो के मुकाबले में पंजाब के खिलाफ जीत हासिल की। इस मुकाबले से पहले 12 मैचों से 10 अंक लेकर राजस्थान की टीम प्लेऑफ की रेस में बनी हुई थी लेकिन यह मैच हारने के बाद वह इस दौड़ से बाहर हो जाती। राजस्थान की जीत का मतलब यह है कि अब कोलकाता और हैदराबाद की मुश्किलें बढ़ गई है।

राजस्थान ने बिना आखिरी रन बनाए मिली जीत

पंजाब के खिलाफ लक्ष्य का पीछा करते हुए 18 ओवर में टीम को जीत के लिए 11 रन की जरूरत थी। क्रिस जॉर्डन को कप्तान केएल राहुल ने गेंदबाजी सौंपी थी और ओवर की शुरुआत उन्होंने वाइड के साथ की। जोस बटलर इस ओवर में एक छक्का लगाया और दो रन लिए जबकि स्मिथ ने एक रन बनाए। चौथी गेंद पर टीम को जीत के लिए 1 रन चाहिए थे लेकिन जॉर्डन ने गेंद वाइड डाल दी। ऐसे बिना बल्लेबाजों के रन बनाए राजस्थान की टीम को जीत मिल गई।

पंजाब का बिगड़ा समीकरण

प्लेऑफ में पहुंचने के लिए पंजाब की टीम को अब चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ आखिरी मैच खेलना है। टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी चेन्नई ने पिछले दो मुकाबलों में रॉयल चैलेंजर्स बैंगोलर और कोलकाता नाइटराइडर्स की टीम को हराया है। अब अगर चेन्नई की टीम ने पंजाब को भी मात दे दिया तो फिर उसके प्लेऑफ का सपना टूट सकता है।  

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस