नई दिल्ली, संजय सावर्ण। भारतीय चाइनमैन गेंदबाज कुलदीप यादव की गेंदबाजी समझने के लिए इंग्लिश टीम ने कई जतन किए। उन्होंने मर्लिन मशीन का भी उपयोग किया जिससे कि उन्हें कुलदीप की काट मिल जाए लेकिन कुछ भी उनके काम नहीं आया और पहले वनडे मुकाबले में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ घातक गेंदबाजी करते हुए अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर डाला। कुलदीप इंग्लैंड के खिलाफ वनडे में 6 विकेट लेने वाले पहले स्पिनर बने। 

कुलदीप ने 25 देकर लिए 6 विकेट, नया रिकॉर्ड बनाया

इंग्लिश टीम के खिलाफ पहले वनडे मैच में कुलदीप की घातक गेंदबाजी की दुनिया कायल हो गई। उन्होंने 10 ओवर में 2.50 की इकॉनामी रेट से गेंदबाजी करते हुए 6 विकेट झटके। उन्होंने जिन खिलाड़ियों को आउट किया वो इंग्लैंड टीम के टॉप के बल्लेबाज थे। ये उनके वनडे करियर का अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। इससे पहले वनडे में उनका बेस्ट प्रदर्शन 23 रन देकर 4 विकेट था जो उन्होंने इस वर्ष केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ किया था। यही नहीं कुलदीप दुनिया के पहले बाएं हाथ के स्पिनर बने जिन्होंने 25 रन देकर 6 विकेट लिए। किसी भी बाएं हाथ के स्पिनर द्वारा वनडे में किया गया ये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। 

क्या गजब का संयोग

कुलदीप यादव ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी20 मैच में अपने टी20 अंतरराष्ट्रीय करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। उन्होंने मैनचेस्टर में इंग्लिश टीम के खिलाफ अपने पहले टी20 मैच में 24 रन देकर 5 विकेट लिए थे। किसी चाइनामैन गेंदबाज ने क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में पहली बार पांच विकेट लिए थे और ये रिकॉर्ड कुलदीप ने अपने नाम किया था। वहीं इंग्लैंड के खिलाफ अपने इंट रनेशनल करियर के पहले वनडे मैच में भी उन्होंने अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्ट प्रदर्शन कर डाला। इस मैच में उन्होंने 25 रन देकर 6 विकेट लिए। 

इंग्लिश टीम के टॉप के बल्लेबाजों को बनाया शिकार

कुलदीप ने इंग्लैंड की टीम के बेहतरीन बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। सबसे पहले उन्होंने पहले विकेट के लिए घातक बनते जा रहे जेसन रॉय और जॉनी ब्रिस्टो की जोड़ी को तोड़ा और जेसन को 38 रन पर उमेश यादव के हाथों कैच आउट करवाया। उन्होंने अपना दूसरा विकेट जो रूट के तौर पर लिया। रूट ने सिर्फ 3 रन बनाए थे और वो कुलदीप की गेंद पर LBW आउट हुए। कुलदीप का तीसरा शिकार बने जॉनी ब्रिस्टो जो 38 रन बनाकर LBW आउट हुए। भारतीय टीम के लिए खतरनाक साबित हो रहे जोस बटलर को उन्होंने 53 रन पर धौनी के हाथों आउट कर अपना चौथा शिकार पूरा किया और इसके ठीक बाद अपना पांचवां शिकार बेन स्टोक्स को बनाया जो 50 रन पर थे। कुलदीप का आखिरी शिकार बने डेविड विले जिन्होंने सिर्फ एक रन बनाया और उनका कैच लोकेश राहुल ने पकड़ा।  

कुलदीप का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर

कुलदीप ने सिमित ओवरों के प्रारूप में और टेस्ट में भी भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया है। दो टेस्ट मैचों में फिलहाल उनके नाम पर 9 विकेट हैं। इसके अलावा 21वनडे मुकाबले में उन्होंने 45 विकेट झटके हैं तो 12टी 20 मैचों में उन्होंने 24 विकेट झटके हैं। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sanjay Savern