मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

हैदराबाद, जेएनएन। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एकदिवसीय मैचों की सीरीज का पहला मैच आज राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में पांच मैचों की वनडे सीरीज का पहला मुकाबला भारत ने 6 विकेट से जीत लिया है इस के साथ ही भारतीय टीम ने 5 एकदिवसीय मैचों की श्रंखला में 1-0 की बढ़त ले ली है। मेहमान टीम ने मेजबनों को निर्धारित 50 ओवर में 237 रनों का लक्ष्य दिया जिसे धौनी और केदार जाधव की शानदार बल्लेबाजी के दम पर टीम इंडिया ने 10 गेंदे शेष रहते ही पूरा कर लिया।

दोनों ही बल्लेबाज नाबाद लौटे

मेजबान टीम की शुरुआत बेहद खराब रही 237 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन दूसरे ओवर की पहली गेंद पर ही खाता खोले बिना आउट हो गए इसके बाद कप्तान विराट कोहली ने रोहित शर्मा के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 76 रनों की साझेदारी कर भारत को मैच में वापसी की। लेकिन इसी समय 80 रन के स्कोर पर कप्तान विराट 44 रन बनाकर आउट हो गए। देखते ही देखते भारत का स्कोर 99 रन पर 4 विकेट हो गया और मैच पर मेजबानों ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया।

केदार-धौनी ने पांचवें विकेट के लिए जोड़े 141* रन जोड़े

टीम इंडिया महज 99 रनों के स्कोर पर 4 विकेट गवांकर संघर्ष कर रही थी कि तभी क्रीज पर धौनी का साथ देने के लिए ऑलराउंडर केदार जाधव आए इन दोनों बल्लेबाजों मैदान के चारों ओर दर्शनीय स्ट्रोक्स लगाए। और देखते ही देखते मैच का रुख मोड़ दिया। जाधव और धौनी ने पांचवें विकेट के लिए नाबाद 141 रन जोड़े। दोनों बल्लेबाजी की शानदार बल्लेबाजी के चलते टीम इंडिया ने सीरीज का पहला मैच जीतकर 1-0 की बढ़त बना ली है।

केदार ने लगाया करियर का 7वां अर्धशतक

केदार जाधव ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में बेहतरीन अर्धशतकीय पारी खेली। जाधव जब बल्लेबाजी करने के लिए क्रीज पर आए तब भारतीय टीम महज 99 रन के स्कोर पर 4 विकेट गवांकर संघर्ष कर रही थी। लेकिन जाधव ने धौनी के साथ मिलकर बेहतरीन बल्लेबाजी का नजारा पेश किया। जाधव ने 87 गेंदों पर नाबाद 81 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 9 चौके और एक छक्का भी लगाया। इस पारी के दौरान जाधव का स्ट्राइक रेट 93.10 का रहा जो कि वनडे मैचों के हिसाब से काफी बेहतर रहा।

धौनी ने लगाया करियर का 71वां अर्धशतक

आए दिन ये चर्चा होती है कि धौनी को संन्यास ले लेना चाहिए, लेकिन पिछले कुछ मैचों में धौनी ने अपने बल्ले से आलोचकों का मुंह बंद किया और ये दिखाया कि टीम इंडिया को अभी धौनी की जरूरत क्यों है। जब टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में 237 रन का पीछा करते हुए महज 99 रन पर 4 विकेट गवांकर संघर्ष कर रही थी तब धौनी एक बार फिर संकटमोचक की भूमिका में नजर आए और उन्होंने धैर्य पूर्वक बल्लेबाजी करते हुए केदार जाधव के साथ मिलकर भारतीय टीम को जीत दिलाई। धौनी और जाधव ने 5वें विकेट के लिए 149 गेंदों पर 141* रन की साझेदारी की और टीम इंडिया को जीत दिलाई। धौनी ने अपनी इस पारी में 72 गेंदों पर 59 रन बनाए इस दौरान उन्होंने 6 चौके और 1 छक्का भी लगाया।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप