नई दिल्ली, जेएनएन। ICC cricket world cup 2019: वर्ल्ड कप 2019 में इंग्लैंड की टीम पहली बार विश्व चैंपियन बनी। इस बार प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट उप विजेता टीम के कप्तान केन विलियमसन रहे। उन्होंने इस पूरे टूर्नामेंट के दौरान काफी अच्छा प्रदर्शन किया। रन बनाने के साथ-साथ उन्होंने अच्छी कप्तानी भी की और टीम को फाइनल तक पहुंचाया। 

बने मैन ऑफ द सीरीज बने केन विलियमसन

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन इस टूर्नामेंट में प्लेयर ऑफ द सीरीज बने। उन्होंने दस मैचों में 82.57 की औसत से कुल 578 रन बनाए। केन ने दो शतक व दो अर्धशतक भी लगाए। इस विश्व कप में वो रन बनाने के मामले में चौथे नंबर पर रहे। केन की कप्तानी में कीवी टीम खिताब जीतने से चूक गई और उप विजेता के तौर पर उन्हें संतोष करना पड़ा। 

विश्व कप में मैच ऑफ द सीरीज जीतने वाले खिलाड़ी

वनडे विश्व कप की शुरुआत तो 1975 में हुई थी, लेकिन उस वक्त मैन ऑफ द सीरीज खिताब देने का रिवाज नहीं था। ये सिलसिला शुरू हुआ 1992 विश्व कप से जब पाकिस्तान की टीम विश्व विजेता बनी थी। पहली बार वर्ल्ड कप में मैन ऑफ द सीरीज का खिताब न्यूजीलैंड के मार्टिन क्रो ने जीता था। क्रो को इस विश्व कप में सबसे ज्यादा 456 रन बनाने के लिए इस खिताब से नवाजा गया था। भारत की तरफ से 2003 में सचिन तेंदुलकर ने ये खिताब जीता था। इस विश्व कप में सचिन ने सबसे ज्यादा 673 रन बनाए थे साथ में उन्होंने दो विकेट भी लिए थे। वहीं भारत की तरफ से विश्व कप में दूसरी बार मैन ऑफ द सीरीज का खिताब युवराज सिंह ने जीता था। 2011 विश्व कप में युवी की शानदार ऑल राउंड प्रदर्शन के दम पर टीम इंडिया दूसरी बार विश्व विजेता बनी थी। इस विश्व कप में युवी ने 362 रन बनाए थे साथ में उन्होंने 15 विकेट भी लिए थे। अब तक ये खिलाड़ी विश्व कप में मैन ऑफ द सीरीज बन चुके हैं। 

1992- मार्टिन क्रो 

1996- सनथ जयसूर्या

1999- लांस क्लूजनर

2003- सचिन तेंदुलकर

2007- ग्लेन मैक्ग्रा

2011- युवराज सिंह

2015- मिचेल स्टार्क

2019- केन विलियमसन

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Savern