नई दिल्ली, जेएनएन। नॉटिंघम टेस्ट मैच में जसप्रीत बुमराह को इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम में शामिल किया गया और उन्होंने साबित कर दिया कि आखिरकार क्यों इसके पहले दो टेस्ट मैच में इतना मिस किया जा रहा था। बुमराह चोटिल होने की वजह से पिछले दो टेस्ट मैच में हिस्सा नहीं ले पाए थे लेकिन जैसे ही वो फिट हुए उन्हें टीम में शामिल कर लिया गया। इंग्लैंड के खिलाफ ये बुमराह के टेस्ट करियर का पहला मैच था और अपने पहले ही मैच में मेजबान टीम के खिलाफ उन्होंने बेहद धारदार गेंदबाजी की। 

ट्रेंटब्रिज में बुमराह ने लिए कुल 7 विकेट

जसप्रीत बुमराह ने तीसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में भारत की तरफ से सबसे अच्छी गेंदबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। बुमराह ने अपनी गेंदबाजी से इंग्लैंड टीम की कमर ही तोड़ दी। इससे पहले पहली पारी में भी उन्होंने दो विकेट चटकाए थे। इस तरह से उन्होंने इस टेस्ट मैच में अब तक कुल 7 विकेट लिए हैं। 

दूसरी पारी में ये बने बुमराह के शिकार

तीसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में जसप्रीत बुमराह ने अपना पहला शिकार टीम के सबसे खतरनाक बल्लेबाज कप्तान जो रूट को बनाया। जो रूट को सिर्फ 13 रन पर उन्होंने आउट कर दिया। जो रूट का कैच बुमराह की गेंद पर लोकेश राहुल ने पकड़ा। इसके बाद बुमराह ने पूरी तरह से जम चुके जोस बटलर को आउट किया। एक वक्त ऐसा लग रहा था कि बटलर इस मैच को शायद कुछ और अंजाम तक पहुंचा दें लेकिन भारतीय टीम को जैसे ही नई गेंद मिली कप्तान विराट ने बुमराह को गेंद पकड़ा दी और उन्होंने 106 रन बनाकर खेल रहे बटलर को एलबीडब्ल्यू आउट कर टीम को बड़ी राहत पहुंचाई। इसके बाद उन्होंने जॉनी बेयरस्टो को शून्य के स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। टीम के एक अन्य बेहतरीन बल्लेबाज क्रिस वोक्स को उन्होंने अपना चौथा शिकार बनाया और 4 रन पर पंत के हाथों कैच करवा दिया। स्टुअर्ट ब्रॉड 20 रन पर बुमराह का पांचवां शिकार बने और उनका कैच भी लोकेश राहुल ने लपका। 

इसके पहले पहली पारी में बुमराह ने किटोन जेनिंग्स को कैच आउट करवाया था और दूसरे विकेट के रूप में उन्होंने जोस बटलर को आउट किया था। 

ऐसी रही बुमराह की गेंदबाजी

बुमराह ने तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में अब तक कुल 29 ओवर फेंके और इसमें 2.93 की इकॉनामी रेट से गेंदबाजी करते हुए कुल 85 रन दिए। उन्होंने आठ ओवर मेडन फेंके और पांच विकेट लिए। अभी पांचवें दिन अगर बुमराह एक विकेट और ले लेते हैं तो ये उनके टेस्ट करियर का बेस्ट प्रदर्शन होगा। बुमराह ने इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस वर्ष जनवरी में जोहानसबर्ग टेस्ट में सात विकेट लिए थे। उन्होंने इस टेस्ट की एक पारी में पांच विकेट भी लिए थे। अगर बुमराह एक विकेट और ले लेते हैं तो वो एक पारी में छह विकेट और किसी टेस्ट मैच में आठ विकेट लेकर अपने पिछले बेस्ट प्रदर्शन को पीछे छोड़ देंगे। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sanjay Savern