नई दिल्ली,अभिषेक त्रिपाठी। सचिन तेंदुलकर ने बल्लेबाजी के लगभग सभी रिकॉर्ड अपने नाम किए और यही कारण है कि उनको क्रिकेट का भगवान कहा जाता है। बीच-बीच में उनकी तुलना डॉन ब्रैडमैन, ब्रायन लारा, रिकी पोंटिंग, जैक्स कैलिस व एलिस्टेयर कुक से हुई, लेकिन सचिन-सचिन ही रहे और वक्त के साथ उनके रिकॉर्ड बड़े होते गए। 16 नवंबर, 2013 को जब मास्टर-ब्लास्टर ने क्रिकेट से संन्यास लिया तो उनके नाम टेस्ट व वनडे में सबसे ज्यादा रन और सबसे ज्यादा शतक सहित कई रिकॉर्ड थे। जिनसे सचिन की तुलना होती थी वे एक-एक करके रिटायर हो गए और ऐसा लगने लगा कि अब सचिन के रिकॉर्ड कभी नहीं टूटेंगे, लेकिन 18 अगस्त 2008 को पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले एक और भारतीय खिलाड़ी विराट कोहली उनके कई रिकॉर्ड तोड़ने के बाद वनडे में सबसे ज्यादा शतकों के रिकॉर्ड की तरफ तेजी से बढ़ गए हैं।

अगर पूर्व भारतीय कप्तान सचिन और वर्तमान भारतीय कप्तान विराट के आंकड़ों की तुलना की जाए तो कई मामले में वर्तमान कप्तान भारी पड़ते हैं। जहां सचिन ने करीब 24 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में टेस्ट और वनडे में मिलाकर 100 शतक लगाए तो विराट सिर्फ नौ साल के करियर में ही 47 शतक लगा चुके हैं। कोहली ने 194 वनडे खेले हैं और उनके नाम 30 शतक हैं, जबकि सचिन ने 463 वनडे में 49 शतक लगाए थे। ये रिकॉर्ड कोहली आसानी से तोड़ सकते हैं।

सचिन ने 200 टेस्ट में 51 शतक लगाए थे, जबकि विराट ने 60 टेस्ट में ही 17 शतक लगाए हैं। विराट अभी 29 वर्ष के भी नहीं हुए हैं और उनमें काफी क्रिकेट बाकी है। खास बात यह है कि वह काफी फिट हैं और उन्हें सचिन की तरह अभी तक वह समय नहीं देखना पड़ा है जिसमें वह चोटिल हुए थे। टेनिस एल्बो के कारण सचिन के करियर को काफी नुकसान हुआ था। हालांकि इसके अलावा सचिन भी काफी फिट रहे हैं, लेकिन विराट फिटनेस के मामले में अभी तक उनसे बेहतर साबित हुए हैं। 16 वर्ष की आयु में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने वाले सचिन ने 40 वर्ष की उम्र तक क्रिकेट खेला। वहीं, विराट ने 19 साल की उम्र में पहला अंतरराष्ट्रीय वनडे और 22 साल की उम्र में पहला टेस्ट मैच खेला। इसको देखते हुए उनकी उपलब्धि और ज्यादा लगती है। अगर विराट इसी तरह दस साल और क्रिकेट खेलते हैं तो वह सचिन के वनडे में सबसे ज्यादा शतक और सबसे ज्यादा रन के रिकॉर्ड को आसानी से तोड़ सकते हैं।

सचिन ने करियर में सिर्फ एक अंतरराष्ट्रीय टी-20 खेला, जबकि विराट 49 मैच खेल चुके हैं। सचिन को टी-20 कुछ खास नहीं भाता था। हालांकि खेल का यह संस्करण ऐसे समय आया जब सचिन का अंतरराष्ट्रीय करियर अंतिम पड़ाव पर था। वनडे में शतकों के मामले में इस स्टार बल्लेबाज विराट कोहली पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज बल्लेबाज और कप्तान रिकी पोंटिंग की बराबरी कर चुके हैं और अब सचिन से सिर्फ 19 शतक पीछे रह गए हैं। अगर इन तीनों के शुरुआती 30 शतकों की बात की जाए तो उसमें पोंटिंग ने यह कारनामा 349 पारियों और सचिन ने 267 पारियों में किया था, जबकि कोहली ने यहां तक पहुंचने के लिए सिर्फ 186 पारियां का समय ही लिया। 186 पारियों के बाद सचिन के सिर्फ 16 और पोंटिंग के 15 शतक थे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप