नई दिल्ली। वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट में भारतीय टीम को बेशक शानदार जीत मिली मगर इस जीत में टीम का सबसे अनुभवी गेंदबाज सबसे कमजोर कड़ी के तौर पर सामने आया। इस गेंदबाज के पास ना सिर्फ वेस्टइंडीज में खेलने का अनुभव था बल्कि वो फिलहाल टीम इंडिया की तरफ से सबसे ज्यादा टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ी भी हैं। इतने अनुभवी गेंदबाज से ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद टीम को कतई नहीं थी।

आखिर क्या किया इस गेंदबाज ने

भारतीय टीम के जितने भी गेंदबाज टेस्ट सीरीज खेलने वेस्टइंडीज दौरे पर गए हैं उन सब का ये पहला वेस्टइंडीज दौरा है। सिर्फ इशांत ही ऐसे गेंदबाज हैं जिनके पास वेस्टइंडीज में टेस्ट सीरीज खेलने का अनुभव है। पहले टेस्ट में इंडीज के खिलाफ वो अपने इस अनुभव का फायदा उठाते बिल्कुल भी नजर नहीं आए। पहले टेस्ट में इशांत की गेंदबाजी बिल्कुल असरहीन रही है। यही नहीं वो दोनों पारियों में गेंदबाजी के दौरान अपनी फॉर्म से जूझते नजर आए। पिछले वेस्टइंडीज दौरे पर 'मैन ऑफ द सीरीज' रहे इशांत से पहले टेस्ट मैच में ऐसी प्रदर्शन की उम्मीद बिल्कुल भी नहीं थी।

तस्वीरें: दुनिया के ये दिग्गज खिलाड़ी भी झेल चुके हैं डोप टेस्ट का दंश

क्या होगा आगे

इशांत के इस प्रदर्शन के बाद उन पर सवालिया निशान लग गया है। हालांकि अभी टीम को तीन टेस्ट मैच और खेलने हैं। ऐसे में विराट अगले टेस्ट में इसी टीम संयोजन को बरकरार रखते हैं या इशांत को टीम से बाहर रखा जाएगा ये देखने वाली बात होगी।

दूसरे गेंदबाजों ने किया कमाल

इशांत को छोड़कर टीम में शामिल अन्य तेज गेंदबाज मो. शमी और उमेश यादव ने जहां पहले टेस्ट में चार-चार विकेट लिए वहीं इशांत को पूरे मैच में महज एक विकेट से संतोष करना पड़ा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern