नई दिल्ली, जेएनएन। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से फिलहाल स्थगित करने का फैसला लिया है। मंगलवार को आइपीएल की गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग में इस बारे में सहमति बनीं कि अब टूर्नामेंट को आगे नहीं बढ़ाया जाना चाहिए। टूर्नामेंट को स्थगित करने के बाद अब बीसीसीआइ के सामने सबसे बड़ी चुनौती विदेशी खिलाड़ियों को घर पहुंचाने की होगी।

आइपीएल के मौजूदा सीजन के दौरान कई ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने टूर्नामेंट छोड़ने का फैसला लिया था। जिसके बाद उनके घर जाने को लेकर कई बातें सामने आई थी। एडम जंपा, केन रिचर्ड्सन और एंड्यू टाई को वापस जाने के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को पहल करनी पड़ी थी। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने यह साफ कर दिया था कि भारत में खिलाड़ी निजी करार से खेलने गए हैं ना कि टीम के साथ दौरे पर ऐसे में वह अपने देश लौटने का प्रबंध भी खुद ही करेंगे।

भारत से ऑस्ट्रेलिया फ्लाइट पर रोक

ऑस्ट्रेलिया के लिए भारत के उड़ान भरने वाली सभी फ्लाइट को फिलहाल के लिए रद कर दिया गया है। अब अगर किसी को निजी तौर पर ऑस्ट्रेलिया जाना है तो उसके लिए क्या विकल्प सामने रह जाते हैं। फिलहाल ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने 15 मई तक भारत की सभी उड़ान पर पाबंदी लगाई हुई है। इसको लेकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया सरकार से किसी तरह की कोई रियायत नहीं मांगने वाली। इसका मतलब साफ है कि टूर्नामेंट से जुड़े खिलाड़ी, कोचिंग स्टाफ और कमेंट्री पैनल में शामिल दिग्गजों को 15 मई तक भारत में ही रहना होगा।  

बाकी विदेशी खिलाड़ी कैसे पहुंचे अपने देश 

बात करें इंग्लैंड की तो यहां के नागरिक को 10 दिन के क्वारंटाइन अवधि के बाद अनुमति है। इस दौरान दो कोरोना के टेस्ट नेगेटिव होने चाहिए। न्यूजीलैंड के नागरिकों को 14 दिन के क्वारंटाइन अवधि के साथ अनुमति है। साउथ अफ्रीका में सभी तरह से यात्री को जाने की अनुमति है। बांग्लादेश में किसी भी तरह की हवाई यात्रा की अनुमति नहीं है। यूएई में भी भारत से जाने वाले हर तरह की फ्लाइट पर पाबंदी लगाई है। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप