नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम इस वक्त इंग्लैंड दौरे पर है और उसे पांच टेस्ट मैचों की सीरीज मेजबान टीम के खिलाफ खेलनी है। इस टेस्ट सीरीज का आगाज एक अगस्त से होगा। इस बार टेस्ट सीरीज से पहले ये कयास लगाए जा रहे हैं कि भारतीय स्पिनर्स वहां कमाल करेंगे। स्पिनर्स इस बार वहां धमाल मचा सकते हैं ये इससे भी साबित होता है कि इंग्लैंड की टीम में स्पिनर आदिल रशीद की वापसी हुई है जो टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके थे। इस बार भारतीय टीम में स्पिनर के तौर पर आर अश्विन, रवींद्र जडेजा और कुलदीप यादव मौजूद हैं। इनमें से अश्विन और जडेजा को इंग्लैंड के खिलाफ उनकी धरती पर खेलने का अनुभव है। ये दोनों खिलाड़ी इंग्लैंड दौरे पर वर्ष 2014 में गए थे। अब एक नजर डालते हैं इन दोनों स्पिनर्स के इंग्लैंड में किए गए प्रदर्शन पर।

वर्ष 2014 इंग्लैंड दौरे पर अश्विन का प्रदर्शन
वर्ष 2014 में आर अश्विन पहली बार इंग्लैंड दौरे पर धौनी की कप्तानी में गए थे। पांच टेस्ट मैचों की इस सीरीज में भारतीय टीम को 3-1 से सीरीज गंवानी पड़ी थी। इससे पिछले दौरे पर अश्विन भारतीय स्पिन गेंदबाजी का आधार थे साथ ही वो शानदार गेंदबाजी भी कर रहे थे लेकिन इंग्लैंड आकर उनकी गेंदबाजी की धार थोड़ी कुंद पड़ गई और उन्होंने निराश किया। पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में उन्हें सिर्फ दो टेस्ट में खेलने का मौका मिला और इन दोनों मैचों में उनके खाते में सिर्फ तीन विकेट ही आए थे। विकेट लेने के मामले में तो वो कमाल नहीं कर पाए लेकिन उनकी बल्लेबाजी कमोबेश थोड़ी ठीक रही। इन दोनों टेस्ट मैचों की चार पारियों में उन्होंने 40,46*,13,7 रन की पारी खेली। अश्विन शानदार गेंदबाज हैं इसमें कोई शक नहीं लेकिन उनके विकेट का ये आंकड़ा थोड़ा डराता है। कहा जा रहा है कि इंग्‍लैंड में इस वक्त काफी गर्मी पड़ रही है और स्पिनर्स को मदद मिलेगी लेकिन पिछला दौरा भी जुलाई-अगस्त के महीने में भी हुआ था और उस वक्त भी वहां गर्मी ही थी। खैर क्रिकेट फैंस को तो यही उम्मीद होगी कि अश्विन अपनी गेंदबाजी का जलवा दिखाएं और भारतीय टीम को जीत मिले। अश्विन ने भारतीय टीम के लिए अब तक कुल 58 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 316 विकेट चटकाए हैं।

 

रवींद्र जडेजा ने 2014 में किया अच्छा प्रदर्शन
पिछले इंग्लैंड दौरे पर जडेजा ने अश्विन से ज्यादा प्रभावित किया। पांच में से उन्हें चार मैचों में खेलने का मौका मिला। इन चार मैचों में उन्होंने कुल 9 शिकार किए। चार मैचों की आठ पारियों में उन्होंने टीम के लिए 25,31,3,68,31,15,0,4 रन की पारी खेली। जडेजा को उनके प्रदर्शन के दम पर ही धौनी ने उन्हें ज्यादा मैचों में मौके दिए। भारतीय धरती की बात करें तो जडेजा ने इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज वर्ष 2016 में खेली थी। इस सीरीज में जडेजा बिल्कुल आग उगल रहे थे। पांच मैचों में उन्होंने 3,3,4,6,10 विकेट लिए। यानी इस टेस्ट सीरीज में उन्होंने कुल 26 विकेट चटकाए थे। इसी सीरीज में अश्विन ने 3,8,4,12,1 विकेट पांच मैचों में लिए थे। यानी अश्विन के नाम पर कुल 28 विकेट थे। भारतीय धरती पर तो दोनों ने इंग्लैंड के खिलाफ जमकर विकेट लिए थे लेकिन अब बारी इंग्लैंड की है और टीम को दोनों से उम्मीदें हैं। जडेजा के टेस्ट करियर की बात करें तो उन्होंने अब तक 36 टेस्ट मैचों में कुल 171 विकेट लिए हैं। 

कुलदीप कर सकते हैं कमाल

कुलदीप यादव अपने करियर में पहली बार इंग्लैंड दौरे पर आए हैं। टी20 और वनडे सीरीज में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ धमाकेदार गेंदबाजी की और उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ पहले तीन टेस्ट के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है। तमाम विशेषज्ञों का कहना है कि कुलदीप इस बार इंग्लैंड में धमाल करेंगे। टेस्ट सीरीज से पहले उन्होंने इंग्लैंड में जो धमक उन्होंने दिखाई उससे उम्मीद भी बंधती है लेकिन अगर उन्हें खेलने का मौका मिलता है तो ये सीरीज उनके लिए बड़ी परीक्षा साबित हो सकती है इसके अलावा उन्हें किस कांबिनेशन के तहत टीम में शामिल किया जाएगा ये भी देखने वाली बात होगी। वैसे अंतिम ग्यारह में शामिल होने के लिए कुलदीप को इन दोनों स्पिनर्स के कड़ी टक्कर मिलने वाली है। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern