नई दिल्ली, जेएनएन। इस बात से हर कोई वाकिफ है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ अपने पुरुष खिलाड़ियों पर जमकर धन लुटाती है। एक-एक खिलाड़ी को सालाना करार के तौर पर 7-7 करोड़ रुपये तक तो मिलते ही हैं, साथ ही साथ मैच फीस और अन्य बोनस अलग से खिलाड़ी को मिलता है। अगर कोई बल्लेबाज शतक जड़ता है या दोहरा शतक ठोकता है या फिर कोई गेंदबाज पांच विकेट चटकाता है तो उसे अतिरिक्त पैसा बीसीसीआइ से मिलता है।

जी हां, भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने काफी समय से बोनस स्कीम शुरू की हुई है। पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा के मुताबिक, अगर कोई बल्लेबाज शतकीय पारी खेलता है तो उसे बोनस के तौर पर पांच लाख रुपये मिलते हैं। वहीं, अगर कोई बल्लेबाज दोहरा शतक जड़ता है तो उस खिलाड़ी को 7 लाख रुपया का बोनस मिलता है। गेंदबाजों के लिए भी बीसीसीआइ की बोनस स्कीम है। इसके तहत अगर कोई गेंदबाज पारी में 5 विकेट चटकाता है तो उसे भी 5 लाख रुपये बोनस के रूप में मिलते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें, सालाना करार के तौर पर ए प्लस कैटेगरी वाले खिलाड़ियों को सात करोड़ रुपये मिलते हैं, जबकि ए कैटेगरी में शामिल खिलाड़ियों को सालाना 5 करोड़ रुपये मिलते हैं। वहीं, बी कैटेगरी वाले खिलाड़ियों को 3 करोड़ रुपये बीसीसीआइ की ओर से एक क्रिकेट कैलेंडर ईयर के लिए मिलते हैं। सबसे आखिर में आने वाली सी कैटेगरी में शामिल खिलाड़ियों को एक करोड़ रुपये सालाना मिलते हैं।

आपको ये जानकर भी हैरानी होगी कि एक टेस्ट मैच के लिए एक खिलाड़ी को, जो प्लेइंग इलेवन में शामिल होता है, उसे 15 लाख रुपये मैच फीस के रूप मिलते हैं। एकदिवसीय क्रिकेट में ये रकम कम हो जाती है, लेकिन फिर भी एक वनडे मैच के लिए खिलाड़ी को 6 लाख रुपये मैच फीस मिलती है। टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट के एक मैच के लिए एक खिलाड़ी को बीसीसीआइ की तरफ से 3 लाख रुपये मिलते हैं। इसके अलावा दैनिक भत्ता भी मिलता है।

आपको ये भी जानना जरूरी है कि अगर भारतीय टीम कोई बड़ा इवेंट (आइसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप, टी20 वर्ल्ड कप, एशिया कप, बड़ी टेस्ट सीरीज, चैंपियंस ट्रॉफी) जीतती है तो फिर इनामी राशि और बढ़ जाती है। साल 2007 में जब टी20 वर्ल्ड कप में युवराज सिंह ने 6 छक्के एक ओवर में जड़े थे तो उस दौरान बीसीसीआइ ने उन्हें एक करोड़ रुपये का रिवॉर्ड अलग से दिया था। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप