नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम के फिरकी गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) को साउथ अफ्रीका के खिलाफ (India vs South Africa) पहले टेस्ट मैच में प्लेइंग इलेवन में जगह दी गई है। अश्विन के पास इस मैच में इतिहास रचने का मौका है। भारत की तरफ से अश्विन सबसे तेज 350 टेस्ट विकेट लेने का कारनामा कर सकते हैं। इसी के साथ उनको पास विश्व रिकॉर्ड की बराबरी करने का भी शानदार मौका होगा।

भारत और साउथ अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला बुधवार से शुरू होने जा रहा है। विशाखापत्तनम में खेले जाने वाले इस टेस्ट मैच के लिए भारतीय प्लेइंग इलेवन का ऐलान कर दिया गया है। मंगलवार को कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ इस मैच में खेलने वाले अंतिम ग्यारह खिलाड़ियों के नाम की घोषणा की। वेस्टइंडीज टेस्ट सीरीज में बाहर बैठने वाले अश्विन को पहले टेस्ट में खेलने का मौका मिलेगा।

अश्विन के पास रिकॉर्ड बनाने का मौका

ऑफ स्पिनर आर अश्विन के पास साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में अपने 350 विकेट पूरे करने का मौका होगा। महज 65 टेस्ट खेलने वाले अश्विन ने अब तक कुल 342 विकेट हासिल किए हैं। यह फिरकी उस्ताद 350 विकेट पूरा करने से महज 8 कदम दूर हैं। अश्विन भारत की तरफ से सबसे तेज 350 टेस्ट विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज बन सकते हैं।

विश्व रिकॉर्ड की कर सकते हैं बराबरी

वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे तेज 350 इंटरनेशनल टेस्ट विकेट हासिल करने का कारनामा पूर्व श्रीलंकाई स्पिनर मुथैया मुरलीधरन के नाम पर दर्ज है। टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 800 विकेट लेने वाले मुरलीधरन ने 66 वें टेस्ट मैच में यह कारनामा किया था। इस वक्त मुरली ऐसा करने वाले विश्व क्रिकेट में एकलौते गेंदबाज हैं। विशाखापत्तनम टेस्ट में 8 विकेट हासिल करने के साथ ही अश्विन इस लिस्ट में संयुक्त रूप से पहले स्थान पर पहुंच विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे।

 

Posted By: Viplove Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप