नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team)को रविवार टी20 सीरीज के तीसरे मुकाबले में साउथ अफ्रीका के खिलाफ (India vs South Africa) 9 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। बेंगलुरू टी20 में जीत के साथ ही मेहमान टीम ने सीरीज 1-1 से बराबर करने में कामयाबी हासिल की। भारत की टी20 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ पिछले 13 सालों में यह सबसे बड़ी हार है।

साउथ अफ्रीका ने टी20 सीरीज के आखिरी मुकाबले में कप्तान क्विंटन डिकॉक (Quinton de kock) की तूफानी अर्धशतकीय पारी के दम पर भारत को 9 विकेट से हरा दिया। इस जीत में टीम के गेंदबाजों का भी शानदार योगदान रहा। साउथ अफ्रीकी गेंदबाजों ने पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को महज 134 रन पर ही रोक दिया था।

जवाब में साउथ अफ्रीका टीम ने सिर्फ 1 विकेट खोकर 16.5 ओवर में जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया। कप्तान डिकॉक ने साउथ अफ्रीका की तरफ से 52 गेंद पर नाबाद 79 रन की मैच जिताउ पारी खेली। यह डिकॉक का सीरीज में लगातार दूसरा अर्धशतक था।

साउथ अफ्रीका के खिलाफ 13 साल में सबसे बड़ी टी20 हार

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच पहला टी20 मुकाबला साल 2006 में खेला गया था। साउथ अफ्रीका ने भारत के खिलाफ 6 जीत हासिल की है जिसमें से चार बार लक्ष्य का पीछा करते हुए मुकाबला अपने नाम किय है। इनमें से 2015 में धर्मशाला टी20 में 7 विकेट, कटक टी20 में 6 विकेट, सेंचुरियन टी20 में विकेट से साउथ अफ्रीका ने जीत हासिल की थी।

भारत को मिली 9 विकेट की बड़ी हार

बेंगलुरू में भारतीय टीम को साउथ अफ्रीका से मिली 9 विकेट की हार उनके खिलाफ विकटों के लिहाज से सबसे बड़ी हार है। इससे पहले प्रोटियाज टीम ने भारत पर 2015 में 7 विकेट से जीत दर्ज की थी।

 

Posted By: Viplove Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप