नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने मुंबई की गलती से सबक लेते हुए केएल राहुल को तीसरे की जगह पांचवें नंबर पर उतारा और खुद अपने पसंदीदा तीसरे नंबर पर उतरे। इसका टीम इंडिया को फायदा मिला और ओपनर शिखर धवन (96) व रोहित शर्मा (42) के बाद विराट (78) व राहुल (80) ने भी उम्दा बल्लेबाजी की जिसकी बदौलत मेजबान टीम ने पहले खेलते हुए 50 ओवर में 340 रनों का भारी-भरकम स्कोर बनाया।

एक समय लग रहा था कि सीरीज का पहला मुकाबला 10 विकेट से जीतने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम राजकोट में दूसरे वनडे में भी विशाल लक्ष्य तक आसानी से पहुंच जाएगी लेकिन कुलदीप यादव ने एक ओवर में एलेक्स कैरी (18) और स्टीव स्मिथ (98) को आउट करके मेहमानों को पटरी से उतार दिया।

विराट का तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी का फैसला

पहले वनडे के बाद कोहली ने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव को अपनी गलती माना था। पहले वनडे में वह चौथे जबकि राहुल तीसरे नंबर पर उतरे थे। यहां पर कोहली ने अपनी गलती सुधारी। दूसरे वनडे में विराट ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी की और 76 गेंद पर 78 रन की पारी खेली। दूसरे विकेट के लिए कप्तान ने ओपनर शिखर धवन के साथ 103 रन की साझेदारी निभाई और टीम इंडिया के बड़े स्कोर की नींव रखी।

केएल राहुल बने मैच के हीरो

इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम 49.1 ओवर में 304 रनों पर ऑलआउट हो गई। इसी के साथ तीन वनडे की सीरीज 1-1 से बराबरी पर आ गई है और आखिरी मुकाबला रविवार को बेंगलुरु में होगा। चोटिल रिषभ पंत की गैरमौजूदगी में इस मैच में बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज उतरे राहुल ने प्रभावशाली बल्लेबाजी करते हुए 52 गेंदों पर छह चौकों व तीन छक्कों की बदौलत 80 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली। राहुल ने विकेटकीपर के रूप में दो कैच लेने के अलावा एक स्टंप भी किया, जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।  

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस