हैदराबाद, जेएनएन। भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच खेली जाने वाली वनडे सीरीज़ के लिए गुरुवार को टीम इंडिया का एलान होना है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घरेलू वनडे सीरीज़ में महेंद्र सिंह धौनी की खराब बल्लेबाजी फॉर्म के कारण चयनकर्ता रिषभ पंत को भी टीम में जगह दे सकते हैं। ये भी हो सकता है कि वेस्टइंडीज़ के खिलाफ वनडे सीरीज़ के लिए धौनी का चयन ही न हो।

अभी यह तय नहीं है कि टीम का चयन पहले तीन मैचों के लिए किया जाएगा या पूरी श्रृंखला के लिए। सीमित ओवरों के चरण की शुरुआत 21 अक्टूबर से होगी जिसमें पांच एकदिवसीय और तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले जाएंगे।

कप्तान विराट कोहली पर काम का बोझ भी अहम मुद्दा है लेकिन इस बात की संभावना कम ही है कि वह पूरी श्रृंखला से आराम लेना चाहेंगे। इसके अलावा धौनी के कवर को लेकर चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन के बीच चर्चा हो सकती है। धौनी की विकेटकीपिंग धारदार है लेकिन उनकी बल्लेबाजी फार्म में गिरावट आई है।

धौनी को न मिले टीम में जगह!

चयन मामलों की जानकारी रखने वाले बीसीसीआइ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को कहा, ‘हम सभी को पता है कि धौनी विश्व कप तक खेलेगा लेकिन पंत को निखारने में कोई नुकसान नहीं है जो छठे या सातवें नंबर पर शानदार बल्लेबाज हो सकता है, जिसमें मैच को खत्म करने की क्षमता है।’  

इस बात से ये भी इशारा मिल रहा है कि धौनी का वनडे सीरीज़ के लिए सेलेक्शन ही न हो और इस सीरीज़ में रिषभ पंत को चुना जाए। क्योंकि ये सीरीज़ वेस्टइंडीज़ के खिलाफ है तो ऐसे में चयनकर्ता ये प्रयोग कर सकते हैं, लेकिन हम सभी जानते हैं कि धौनी विकेट के पीछे काफी तेज़ हैं तो ऐसे में पंत पर भी विकेटकीपिंग में धौनी को मैच करने का दबाव रहेगा। क्योंकि इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ में पंत ने अपनी विकेटकीपिंग से सभी को निराश किया था। हालांकि उन्होंने इसके बाद भारत के पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी से विकेटकीपिंग के कुछ टिप्स भी लिए थे।

द ओवल में पहला टेस्ट शतक जड़ने के बाद राजकोट में भी पंत ने 92 रन की पारी खेली जिसके बाद 20 साल के इस विकेटकीपर बल्लेबाज को टीम में शामिल करने की मांग तेज हो रही है। दिनेश कार्तिक टीम का हिस्सा रहे हैं लेकिन उनके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी है और अहम मौकों पर वह मैच को फिनिश करने में नाकाम रहे हैं जो टीम प्रबंधन की चिंता का सबब है।

चयनकर्ता इसके अलावा कुछ और विकल्पों पर भी विचार कर सकते हैं। केदार जाधव अपनी पैर की मांसपेशियों को लेकर परेशान हैं और सीमित ओवरों के चरण से बाहर हो गए हैं जिससे मध्यक्रम में एक स्थान बना है।

एशिया कप में अच्छे प्रदर्शन के बाद अंबाती रायुडू का चुना जाना लगभग तय है, फिर भले ही कोहली खेलने का फैसला करें या नहीं। मौजूदा टेस्ट श्रृंखला से ब्रेक के बाद भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की वापसी लगभग तय है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें  

Posted By: Pradeep Sehgal