नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के सामने न्यूजीलैड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप का खतरा मंडरा रहा है। दो मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में भारत को 10 विकेट से हार मिली थी और आखिरी टेस्ट में भी न्यूजीलैंड ने पकड़ मजबूत कर ली है। दूसरे दिन का खेल खत्म होने के समय भारत के 90 रन पर 6 विकेट गिर गए थे और उसके पास 97 रन की बढ़त थी।

क्राइस्टचर्च में भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला खेला जा रहा है। पहली पारी में भारतीय टीम 242 रन पर सिमट गई जबकि दूसरी पारी में भी उसने 100 रन से पहले ही 6 विकेट गंवा दिए हैं। दूसरे दिन का खेल खत्म होने के समय हनुमा विहारी और रिषभ पंत की जोड़ी बल्लेबाजी कर रही थी। भारतीय टीम की लाज बचाने का जिम्मा इन्हीं दोनों बल्लेबाजों पर होगा।

पंत और विहारी पर बड़ी जिम्मेदारी

वनडे और टी20 टीम से लगभग बाहर हो चुके विकेटकीपर रिषभ पंत के पास टेस्ट में अपनी जगह बचाने का मौका होगा। रिद्धिमान साहा की जगह कप्तान कोहली ने पंत को मौका दिया है। हनुमा विहारी पहली पारी में अर्धशतक जमाकर जबकि प्रैक्टिस मैच में शतकीय पारी खेली थी। पंत को विहारी का साथ देना होगा और भारत के लिए जीत के लायक स्कोर बनाना होगा। वहीं बेहतर तकनीक के लिए जाने जाने वाले विहारी के नाम के मुताबिक प्रदर्शन करना होगा।

रिषभ पंत के पास है क्षमता

इससे पहले विदेश में खेलते हुए पंत ने दो शतकीय पारी खेली है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुए इस बल्लेबाज ने शतक बनाया है। इंग्लैंड में टेस्ट डेब्यू करने वाले पंत ने ओवल में दूसरी पारी में 114 रन बनाए थे। वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में भी पहली पारी में नाबाद 159 रन बनाए थे।

दूसरे दिन गिरे 16 विकेट 

क्राइस्टचर्च टेस्ट मैच के दूसरे दिन न्यूजीलैंड की टीम ने पहले दिन के स्कोर 63 रन से आगे खेलना शुरू किया और 235 रन पर ऑलआउट हो गई। इसके बाद भारत की दूसरी पारी में कुल 6 विकेट गिरे। पृथ्वी शॉ (14), मयंक अग्रवाल (3), चेतेश्वर पुजारा (24), विराट कोहली (14) जबकि अजिंक्य रहाणे (9) जैसे बल्लेबाज सस्ते में आउट होकर वापस लौटे। 

 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस