नई दिल्ली, जेएनएन। भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ नॉटिंघम में खेले गए तीसरे टेस्ट में मेजबान टीम को 203 रन से हराकर सीरीज का स्कोर 2-1 कर लिया। बल्लेबाजी में भारत के हीरो कोहली, पुजारा और रहाणे रहे तो गेंदबाजी में बुमराह और हार्दिक पांड्या टीम इंडिया के सुपर स्टार बन कर उभरे। इस मैच में भारतीय ओपनर केएल राहुल बल्ले से तो ज्यादा कमाल नहीं कर पाए लेकिन फील्डिंग में उन्होंने इसकी पूरी कसर पूरी कर दी।

केएल राहुल ने तीसरे टेस्ट में 7 कैच पकड़े, जो इंग्लैंड की धरती पर आजतक कोई क्रिकेटर नहीं कर पाया। हालांकि एक मैच में सबसे ज्यादा कैच लेने का रिकॉर्ड भी भारतीय का ही है। अजिंक्य रहाणे ने श्रीलंका के खिलाफ साल 2015 में गॉल टेस्ट में 8 कैच लिए थे जो कि वर्ल्ड रिकॉर्ड है। राहुल के अलावा अपना पहला टेस्ट खेल रहे रिषभ पंत ने भी 5 कैच पकड़े। ये भारतीय इतिहाल का चौथा मौका है कि जब दो भारतीय ने एक ही मैच में 5 या उससे ज्यादा कैच लिए हो।

इन दोनों से पहले अहरुद्दीन व किरन मोरे(1989, पाकिस्तान के खिलाफ कराची में ), किरन मोरे और श्रीकांत ( साल 1992 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में), दास और सौरव गांगुली ने बांग्लादेश के खिलाफ साल 2000 में ढाका टेस्ट में ये कारनामा किया था। 

वहीं अगर राहुल की बात करें तो उन्होंने पहली पारी में 4 कैच और दूसरी पारी में 3 कैच पकड़े। एक मैच में 7 विकेट लेने वाले वह दुनिया के 7वें क्रिकेटर है। केएल राहुल के अलावा ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज ग्रैग चैपल ने साल 1974 में पर्थ में भारत के खिलाफ, भारत के यजुवेंद्र सिंह ने इंग्लैंड के खिलाफ 1977 में बेंगलुरू में, श्रीलंका के हसन तिलकरत्ने ने साल 1992 में न्यूजीलैंड के खिलाफ, न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग ने साल 1997 में हरारे टेस्ट में जिम्बाब्वे के खिलाफ और ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन ने श्रीलंका के खिलाफ गाले में 2004 में 7-7 कैच लिए हैं। और अब राहुल ने इस टेस्ट में 7 विकेट लेकर इस लिस्ट में अपना नाम शामिल करवाया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Lakshya Sharma