नई दिल्ली, [जागरण स्पेशल]। इंग्लैंड के लिए सबसे ज़्यादा टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज़ एलिस्टेयर कुक ने अपने आखिरी टेस्ट में एक ऐसा कमाल कर दिया जो दुनिया में सिर्फ कुछ ही खिलाड़ी कर सके हैं। कुक ने अपने करियर के आखिरी टेस्ट मैच की दूसरी पारी में शतक ठोक दिया। अब कुक का नाम दुनिया के उन चुनिंदा बल्लेबाज़ों में शुमार हो गया है, जिन्होंने अपने डेब्यू और विदाई टेस्ट में सेंचुरी ठोकी हो।

गजब का है ये संयोग  

कुक ने भारत के खिलाफ 2006 में अपना डेब्यू टेस्ट मैच खेला था। उन्होंने नागपुर में अपना पदार्पण मैच खेलते हुए पहली पारी में 60 तो दूसरी पारी में नाबाद 104 रन बनाए थे। इंग्लैंड के इस पूर्व कप्तान ने अपना आखिरी टेस्ट मैच भी भारत के खिलाफ ही खेला है। उनके पहले और आखिरी टेस्ट में एक गजब का संयोग है, देखिए कुक ने अपने डेब्यू टेस्ट की पहली पारी में 60 रन बनाए थे। ओवल में खेले जा रहे अपने विदाई टेस्ट की पहली पारी  में कुक ने अर्धशतक जमाते हुए 71 रन की पारी खेली। वहीं नागपुर में पदार्पण मैच की दूसरी पारी में उन्होंने शतक ठोका था और ओवल टेस्ट की दूसरी पारी में भी उन्होंने शतकीय पारी खेली। 

पहले और आखिरी टेस्ट में शतक लगाने वाले खिलाड़ी

104 / 146 रैगी डफ (ऑस्ट्रेलिया)

110 / 266 बिल पोंसफोर्ड (ऑस्ट्रेलिया)

108 / 182 ग्रैग चैपल (ऑस्ट्रेलिया)

110 / 102 मोहम्मद अजहरूद्दीन (भारत)

104*/  147 एलिस्टेयर कुक (इंग्लैंड)

भारत के खिलाफ सबसे ज़्यादा टेस्ट शतक लगाने वाले अंग्रेज खिलाड़ी

एलिस्टेयर कुक- 07 शतक

केविन पीटरसन- 06 शतक

इयान बॉथम / ग्राहम गूच- 05 शतक

दूसरी पारी में सबसे ज़्यादा शतक लगाने वाले खिलाड़ी 

एलिस्टेयर कुक-15 शतक

कुमार संगकारा- 14 शतक

सचिन तेंदुलकर-  13 शतक

यूनिस खान- 12 शतक

कुक ने संगकारा को छोड़ा पीछे

टेस्ट मैच की तीसरी पारी में ये कुक का 13 वां शतक रहा और इसी के साथ उन्होंने श्रीलंका के दिग्गज़ बल्लेबाज़ कुमार संगकारा के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। कुक से पहले ये टेस्ट मैच की तीसरी पारी में सबसे ज़्यादा 12 शतक लगाने का रिकॉर्ड संगकारा के नाम था, लेकिन अपने विदाई टेस्ट मैच में शतक ठोककर कुक ने संगकारा को पीछो छोड़ दिया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Pradeep Sehgal