नई दिल्ली, [जागरण स्पेशल]। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक अपने आखिरी टेस्ट मैच में एक के बाद एक रिकॉर्ड अपने नाम करते जा रहे हैं। ओवल टेस्ट की दूसरी पारी में उन्होंने कुमार संगकारा के बेहद खास रिकॉर्ड को तोड़ दिया। कुक ने जैसे ही संगकारा को पीछे छोड़ा वो दुनिया में सबसे ज़्यादा टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों की लिस्ट में पांचवें स्थान पर आ गए।

कुक ने ऐसे तोड़ा संगकारा का रिकॉर्ड

एलिस्टेयर कुक ने ओवल टेस्ट की दूसरी पारी में जैसे ही 78 रन का आंकड़ा छूआ वैसे ही उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में कुमार संगकारा के 12400 रन के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। संगकारा ने 134 टेस्ट मैचों में 12400 रन बनाए थे और कुक ने ये कमाल अपना 161वां और आखिरी टेस्ट मैच खेलते हुए किया। संगकारा के इस खास रिकॉर्ड को तोड़ते ही कुक सबसे ज़्यादा टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों की लिस्ट में पांचवें स्थान पर आ गए हैं। कुक टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड के लिए 12400 रन बनाने वाले पहले इंग्लिश खिलाड़ी हैं।  

कुक से आगे हैं ये खिलाड़ी

कुक ने भले ही संगकारा के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया हो, लेकिन अभी भी उनसे आगे चार खिलाड़ी और हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में उनसे ज़्यादा रन बनाए हैं। सबसे ऊपर इस लिस्ट में नाम आता है सचिन तेंदुलकर का। सचिन के नाम सफेद कपड़ों की क्रिकेट में 15921 रन बनाने का विश्व रिकॉर्ड दर्ज़ है। इस सूची में दूसरे नंबर पर नाम आता है ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग का। पोंटिंग के नाम 13378 रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज़ है।पोंटिंग के बाद नाम आता है जैक कैलिस का। कैलिस ने टेस्ट क्रिकेट 13289 रन बनाए हैं। चौथे नंबर पर टीम इंडिया की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ काबिज़ हैं। द्रविड़ ने टेस्ट क्रिकेट में 13288 रन बनाए हैं। अब पांचवें नंबर पर कुक का नाम आ गया है। कुक से पहले पांचवें स्थान पर कुमार संगकारा का नाम था। 

 

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़

सचिन तेंदुलकर- 15921 रन

रिकी पोंटिंग - 13378 रन

जैक कैलिस- 13289 रन

राहुल द्रविड़- 13288 रन

एलिस्टेयर कुक- 12400* रन 

कुक ने इस टेस्ट में बनाया ये खास रिकॉर्ड 

कुक ने साउथैंप्टन टेस्ट मैच के बाद ये एलान कर दिया था कि भारत के खिलाफ खेला जाने वाले पांचवां टेस्ट उनके अंतरराष्ट्रीय करियर का आखिरी मैच होगा। इस मैच से पहले मौजूदा टेस्ट सीरीज़ में इस दिग्गज बल्लेबाज़ का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था, लेकिन अपने आखिरी टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक जमाकर कुक ने अपने विदाई मैच को यादगार बना लिया। कुक ने भारत के खिलाफ 2006 में अपना डेब्यू टेस्ट मैच खेला था। उन्होंने नागपुर में अपना पदार्पण मैच खेलते हुए पहली पारी में 60 तो दूसरी पारी में नाबाद 104 रन बनाए थे। यानि की कुक ने अपने पहले टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक जमाए थे और अब अपने आखिरी टेस्ट मैच की दोनों पारियों में भी उन्होंने अर्धशतक ठोक दिए हैं। वो अपने पहले और आखिरी दोनों टेस्ट मैचों की सभी पारियों में फिफ्टी लगाने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज़ बन गए हैं। कुक से पहले ये कमाल द. अफ्रीकी खिलाड़ी ब्रूस मिचेल ने किया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal