नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय कप्तान विराट कोहली का बल्ला इस समय खूब गरज है, भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में खेले गए पर्थ टेस्ट मैच में भी उन्होंने अपने करियर का 25वां टेस्ट शतक लगाया। वैसे मौजूदा समय में कोहली कहीं भी खेले शतक लगाना उनके लिए आम बात है लेकिन एक भाग्य है कि उनका साथ ही नही देता। खासकर विदेशी जमीन पर तो बिल्कुल ही नहीं। इनमे इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया ऐसे देश है जहां उनकी किस्मत को जंग लग जाती है।

इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में कोहली ने 27 टेस्ट खेले हैं और 11 शतक बनाए हैं। कोहली ने जिन 11 मैचों में शतक लगाए हैं उसमें भारत को सिर्फ एक में जीत और छह में हार मिली है। चार मैच ड्रॉ रहे हैं। यह जीत भारत को इंग्लैंड में मिली थी। दक्षिण अफ्रीका में कोहली के बल्ले से दो शतक निकले हैं। 

इनमें से एक में भारत को हार मिली और एक मैच ड्रॉ रहा। इंग्लैंड की बात करें तो दो में एक मैच भारत जीता और एक हारा। न्यूजीलैंड में कोहली ने एक शतक लगाया और भारत को हार मिली। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में कोहली ने छह शतक लगाए और भारत को चार में हार मिली है, जबकि दो मैच ड्रॉ रहे हैं। बतौर कप्तान कोहली का इन देशों में 12 टेस्ट में 62.70 का बल्लेबाजी औसत है।

वहीं, ओवरऑल उनका यहां बल्लेबाजी औसत 50.33 का है। इन देशों में जब भारत ने जीत हासिल की है तो कोहली का औसत 44.62 है और जब इन देशों में भारत हारा है तो उनके बल्ले से 42.44 की औसत से रन निकले हैं। जब-जब भारत ने इन देशों में मैच ड्रॉ किए हैं उनमें कोहली का औसत बढ़कर 87 हो जाता है। यानी मैच बचाने में उनका योगदान काफी अहम हो जाता है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस