मेलबर्न, जेएनएन। आइसीसी मैच रेफरी रंजन मदुगले ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच श्रृंखला के दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच की मेजबानी करने वाले पर्थ स्टेडियम की पिच को ‘‘औसत’’ रेटिंग दी है। इस मैदान में ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत को 146 रन से हराकर श्रृंखला 1-1 से बराबर करने में सफल रही।

मैच रेफरी रंजन मदुगले ने पर्थ की नए स्टेडियम की पिच को ‘‘औसत’’ रेटिंग दी है, जो कि टेस्ट मैदान के लिए सबसे कम अंक के साथ के उत्तीर्ण करना है। ‘पर्थ पर दिया फैसला संभवत: असमान उछाल के कारण आया है जिसमें दो बार बल्लेबाजों को चोट लगी।’

आइसीसी ने इस साल की शुरूआत में मैदान और पिच की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए बहुत अच्छा, अच्छा, औसत, औसत से कम और खराब रेटिंग देना शुरू किया है।

आइसीसी के इस फैसले के बाद पूर्व टेस्ट क्रिकेटरों मिचेल जॉनसन और माइकल वॉन ने पर्थ स्टेडियम की पिच को ‘औसत’ रेटिंग देने पर आइसीसी की निंदा की है।

जॉनसन ने ट्विटर पर लिखा, ‘पिच में कोई खराबी नहीं थी। बल्ले और गेंद के बीच जंग देखकर अच्छा लगा। आम तौर पर बेजान सपाट पिचें देखने को मिलती है। मैं जानना चाहता हूं कि अच्छी पिच क्या होता है। उम्मीद है कि एमसीजी पर भी टेस्ट रोमांचक होगा।’

जॉनसन यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे लिखा, ‘असमान उछाल अक्सर देखने को मिलता है जब पिच टूटती है। क्या यह उस पिच से अलग है जहां गेंद एक मीटर या ज्यादा स्पिन लेती है और नीची रहती है।’

वॉन ने ट्वीट किया, ‘और फिर वे हैरान होते हैं कि टेस्ट क्रिकेट खराब दौर से क्यो जूझ रहा है। यह बेहतरीन पिच थी जिस पर सभी को मदद मिली। इस तरह की और पिचें होनी चाहिए।’

पर्थ की पिच पर इतना उछाल था कि मोहम्मद शमी की गेंद ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज एरॉन फिंच के दाहिने दस्ताने पर लगी और उन्हें मैदान से बाहर जाना पड़ा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pradeep Sehgal