नई दिल्ली, जेएनएन। मौजूदा भारतीय टीम में चाहे कितने भी बदलाव हुए हो, लेकिन बड़े टूर्नामेंटों के लिए चयनकर्ताओं की शीर्ष क्रम के लिए पसंद कप्तान रोहित शर्मा, बल्लेबाज केएल राहुल और विराट कोहली ही होंगे। अगर शीर्ष क्रम का संयोजन ऐसा ही रहता है तो मध्यक्रम से किस खिलाड़ी को बाहर किया जाएगा।

एक साल पहले तक भारतीय टीम में कोहली के स्थान पर संशय के बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था। कोहली फिट और उपलब्ध हैं, लेकिन शायद पहली बार ऐसा हो रहा है कि उनका अंतिम एकादश में शामिल होना क्रिकेट जगत में एक चर्चा का विषय बना हुआ है। बहस इस बारे में भी जोरों पर है कि अगर राहुल, रोहित और कोहली सीमित ओवरों में शीर्ष तीन के लिए फिट बैठते हैं तो टीम का मध्यक्रम कैसा रहेगा। अगर भारत एशिया कप और टी20 विश्व कप में शीर्ष क्रम में इन तीन खिलाड़ियों को उतारता है तो रिषभ पंत, सूर्यकुमार यादव और दिनेश कार्तिक जैसे अन्य शीर्ष टी20 खिलाड़ियों के लिए एकादश में जगह पूरी तरह पक्की करना मुश्किल काम होगा।

रिषभ पंत टीम के महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं, सूर्यकुमार किसी भी परिस्थिति में खेल सकते हैं, जबकि कार्तिक ने एक बेहतरीन फिनिशर के रूप में खुद की पहचान बनाई है। सवाल यह भी उठता है कि अगर कोहली और राहुल की जगह पक्की है तो क्या भारत इन तीन खिलाड़ियों में से किसी एक को भी बाहर रखने का जोखिम उठाने के लिए तैयार है। फिलहाल इसे लेकर कोई संतुष्ट जवाब मिलना मुश्किल है। रोहित के साथ ओपनिंग साझेदार के तौर पर रिषभ पंत और सूर्यकुमार यादव भी उतर चुके हैं और हाल ही संपन्न हुई वेस्टइंडीज सीरीज में यह दोनों नए स्थान पर बल्लेबाजी करने के दौरान काफी सहज नजर आए थे। हार्दिक पांड्या और रवींद्र जडेजा की आलराउंडर के तौर पर स्थिति को लेकर सवाल नहीं उठाए जा सकते और बेहतर टीम बनाने के लिए कम से कम चार विशेषज्ञ गेंदबाजों का होना भी जरूरी है। ऐसे में यह बड़ा सवाल है कि आखिर किसे बाहर रखा जाएगा।

राहुल और कोहली के पास दावेदारी पुख्ता करने का मौका : चोट के कारण लंबे समय बाद टीम में वापसी कर रहे राहुल और आराम के बाद टीम में लौटे कोहली के पास एकादश में अपनी स्थिति मजबूत करने का सुनहरा अवसर है। यहां यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या टीम मैनेजमेंट कोहली को अपना खेल खेलने की इजाजत दे सकता है। कई प्रारूपों में ऐसा देखा गया है कि कोहली सेट होने से पहली ही अपना विकेट गंवा दे रहे हैं। राहुल को जिंबाब्वे दौरे के लिए फिट पाया गया है। अगर चयन समिति के सूत्रों की मानें तो राहुल एशिया कप में ओपनिंग करने के लिए उतरेंगे। राहुल के ओवरआल प्रदर्शन को देखें तो उनके लिए सबकुछ ठीक लगता है, लेकिन टीम का तरीका अब बदल चुका है।

Edited By: Sanjay Savern