नई दिल्ली, एजेंसी। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली के कप्तानी को देखकर कई बार ऐसा लगता है कि वे 'माई वे ऑर हाइवे' थ्योरी में विश्वास रखते हैं। फील्ड पर उनकी आक्रमकता देखकर अक्सर ऐसा महसूस होता है कि वह खेल को अपने ढ़ंग से देखते हैं। वह इस बात से परेशान नहीं हैं कि दुनिया उनके नेतृत्व की शैली के बारे में क्या सोचती है। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने शानदार प्रदर्शन कर इसे साबित भी किया है।

हालांकि, जब एकदिवसीय क्रिकेट में कप्तानी की बारी आती है तो ऐसा लगता है कि वह 'माई वे और माही वे' को फॉलो करते दिखते हैं। सीमित ओवरों के खेल में कई बार फील्ड सेट करने से लेकर गेंदबाजों से बातचीत करते हुए महेंद्र सिंह धौनी दिखाई देते हैं। स्लॉग ओवर्स में कोहली अपने पूर्व कप्तान धौनी को चार्ज देकर खुद बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग करते दिखाई देते हैं। अबतक सीमित ओवर्स के खेल में कप्तान 30 गज के दायरे के अंदर रहकर फील्डिंग करते थे। ऐसा वह गेंदबाज समेत बाकी खिलाड़ियों से सीधा संपर्क साधने के लिए करते थे, लेकिन कोहली ने लंबे वक्त से चली आ रही इस परंपरा को धौनी की मौजूदगी से तोड़ा है।

धौनी और विराट ने लोगों को गलत साबित किया

जनवरी 2017 में जब विराट कोहली कप्तान बने तो माना जाता था कि धौनी और उनके बीच नहीं बनेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। धौनी के खराब फॉर्म के बावजूद विराट ने उनका साथ दिया और पूरी कोशिश में हैं कि वह वर्ल्ड कप 2019 तक टीम का हिस्सा रहें। इसका सबसे बड़ा कारण विराट का धौनी पर भरोसा है। विराट के उनकी कीमत क्या है यह इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि आखिरी ओवर्स के साथ-साथ शुरुआती 25 ओवर्स में भी धौनी फील्ड सेट करते हैं और गेंदबाजों को चिल्ला-चिल्लाकर सुझाव भी देते हैं।

पूर्व क्रिकेटर्स की राय

धौनी और कोहली की जोड़ी पर पूर्व क्रिकेटर्स की भी नजर है। इस लेकर सुनील गावस्कर ने कहा था कि विराट कोहली के लिए सबसे बढ़िया बात यह है कि उनके पास कीपर के तौर पर धौनी हैं। गावस्कर ने कहा 'जब भी विराट बाउंड्री पर फील्डिंग कर रहे होते हैं, तो धौनी उनकी मदद करते हैं और अहम मौकों पर गेंदबाजों से बात भी करते हैं।' गावस्कर मानते है कि दोनों के इस तालमेल से वर्ल्ड कप में टीम इंडिया को काफी फायदा होगा। 

पूर्व क्रिकेटर एस बद्रीनाथ  इस जोड़ी को लेकर कहते हैं 'ऐसा इस वजह से हो पाता है क्योंकि विराट कोहली, धौनी का बहुत सम्मान करते हैं। बहुत पहले उन्होंने कहा भी था कि धौनी मेरे कप्तान हैं और वह अबतक इस बात को मानते हैं। कोहली भावुक इंसान हैं, उन्हें कई मौकों पर धौनी की जरूरत होती है। यह कहना गलत नहीं होगा कि फील्ड पर दोनों एक दूसरे के पूरक हैं।' 

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप