नई दिल्ली, जेएनएन। ICC World Cup 2019 Ind vs SA: आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के 7 मुकाबलों के बाद आज टीम इंडिया साउथैम्पटन के द रोज बाउल मैदान पर साउथ अफ्रीका के खिलाफ आगाज करने के लिए तैयार है। वहीं दूसरी तरफ, साउथ अफ्रीका इस टूर्नामेंट का अपना तीसरा मुकाबला खेलेगी। अफ्रीकी टीम को इंग्लैंड और बांग्लादेश दोनों के खिलाफ करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है। ऐसे में  साउथ अफ्रीका आज के मैच में जीत हासिल करने के लिए जी जान लगा देगी।   

साउथ अफ्रीकी टीम में युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का अच्छा मेल दिखता है। कागज पर बेहद संतुलित दिखने वाली ये टीम किसी भी टीम को धूल चटाने का माद्दा रखती है। इस टीम में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके भारत के खिलाफ वनडे क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड्स हैं। हाशिम अमला और डेल स्टेन का भारत के खिलाफ बहुत अच्छा प्रदर्शन रहा है। हालांकि, यह दोनों खिलाड़ी ही चोट से जूझ रहे हैं। इसके बावजूद टीम इंडिया को फॉर्म से जूझ रही साउथ अफ्रीका को कम आंकने की गलती नहीं करनी चाहिए। हम बता रहे हैं ऐसे अफ्रीकी खिलाड़ियों के बारे में  जो अकेले दम पर कभी भी मैच पलट सकते हैं।

क्विंटन डी कॉक

साउथ अफ्रीका का ये विकेटकपीर बल्लेबाज पिछले कई समय से लगातार कमाल का परफॉर्म कर रहा है और वर्ल्ड कप 2019 में टीम को फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभा सकता है। 26 साल का ये खिलाड़ी टीम को ओपनिंग बल्लेबाजी कर जबरदस्त शुरुआत देता है। इंग्लैंड के खिलाफ मैच में भी डी कॉक ने 68 रन की पारी खेली थी हालांकि, बांग्लादेश के खिलाफ वह 23 रन बनाकर सस्ते में रनआउट हो गए। उनके भारत के खिलाफ आंकड़ें शानदार हैं। डी कॉक ने 12 मैचों में 66.38 की औसत से 774 रन बनाए, जिसमें 5 शतक और एक अर्धशतक शामिल है।

फाफ डु प्लेसी

कप्तान फाफ डु प्लेसी काफी समय से अपनी टीम के मिडल ऑर्डर को मजबूती दे रहे हैं। खासकर एबी डिविलियर्स के संन्यास के बाद टीम की बैटिंग उन पर ही निर्भर करती है। डु प्लेसी एक ऐसे बल्लेबाज हैं जो किसी भी परिस्थिति में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। डु प्लेसी ने भारत के खिलाफ कुल 12 मैचों में 60 की औसत से 658 रन बनाए हैं, जिसमें दो शतक और 5 अर्धशतक शामिल हैं। इन आंकड़ों को देखकर एक बात साफ है कि उन्हें टीम इंडिया के खिलाफ खेलना बेहद पसंद है।  

कागिसो रबाडा

 

कागिसो रबाडा न सिर्फ इस वक्त अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में टॉप गेंदबाजों में से एक हैं बल्कि उन चुनिंदा गेंदबाजों में से हैं जो तीनों फॉर्मेट में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। साउथ अफ्रीका के इस तेज गेंदबाज ने वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 2015 में ही डेब्यू किया था, लेकिन अपने छोटे से करियर में उन्होंने सभी को प्रभावित किया। रबाडा ने 27.1 की औसत से सिर्फ 68 वनडे मैचों में 108 विकेट चटकाए हैं। रबाडा अपने करियर का पहला वर्ल्ड कप खेल रहे हैं, जिसकी शुरुआत बेहद खराब रही। वह इंग्लैंड और बांग्लादेश के खिलाफ अपना कमाल नहीं दिखा सके। भारत के खिलाफ रबाडा अपने खोये फॉर्म में वापसी करना चाहेंगे। रबाडा अपनी स्विंग से विराट की टीम को परेशान कर सकते हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप