नई दिल्ली, जेएनएन। ICC world cup 2019 इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप के लिए भारतीय क्रिकेट टीम में धौनी के विकल्प के तौर पर दिनेश कार्तिक का चयन किया गया। हालांकि चयनकर्ताओं ने कार्तिक और रिषभ पंत दोनों के नाम पर काफी विचार-विमर्श किया और फिर बाद में बाजी मारी दिनेश कार्तिक ने। अब दिनेश कार्तिक इंग्लैंड की उड़ान भरेंगे और रिषभ को विश्व कप खेलने के लिए अभी इंतजार करना पड़ेगा। आखिर ऐसा क्या हुआ कि रिषभ की जगह कार्तिक को टीम में जगह दी गई। 

भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा कि रिषभ पंत के खिलाफ कोई भी बात नहीं गई और हमने इस युवा खिलाड़ी के बारे में पिछले एक महीने में काफी चर्चा की। हमने उनकी विकेटकीपिंग स्किल, अनुभव और अहम मौके पर फिनिशर की भूमिका को देखते हुए कार्तिक को ज्यादा बेहतर समझा। बैठक में सभी पक्षों को देखने के बाद हमें ये लगा कि कार्तिक का अनुभव और विकेटकीपिंग की क्षमता टीम के लिए ज्यादा उपयोगी है। 

दिनेश कार्तिक की बात करें तो उन्होंने कई बार टीम के लिए मध्यक्रम में टीम के लिए अच्छी बल्लेबाजी की है। अहम मौके पर उन्होंने टीम को जीत भी दिलाई और वो गेंद को हिट कर सकते हैं ये भी दिखाया। निदाहस ट्रॉफी के फाइनल मैच में बांग्लादेश के खिलाफ 8 गेंद पर 29 रन की नाबाद पारी खेलकर उन्होंने टीम को खिताब दिलाया था। 

रिषभ पंत आक्रामक बल्लेबाज हैं युवा और अपनी काबिलियत साबित भी कर चुके हैं पर वो अभी युवा हैं और नाजुक मौके पर किस तरह से पारी को संभालनी है ये अनुभव के साथ वो सीख जाएंगे। कार्तिक में अनुभव की कमी नहीं है और वो मौके के साथ तालमेल बनाकर खेलना जानते हैं। पंत दिल्ली के लिए आइपीेएल में अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं, लेकिन चयनकर्ताओं ने साफ तौर पर उनकी आक्रमकता पर अनुभव को तरजीह दी। टीम के चयनकर्ता ने ये भी कहा कि पंत काफी प्रतिभाशाली हैं और हमें इस बात का दुख है कि हम उन्हें विश्व कप टीम में शामिल नहीं कर पाए। वो युवा हैं और उनके पास काफी वक्त है। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप