नई दिल्ली, जेएनएन। Happy Birthday Dinesh Karthik: बर्थडे ब्वॉय दिनेश कार्तिक की किस्मत कुछ इस तरह की रही है कि वे भारतीय टीम में अपनी बारी के लिए तरसते रहे हैं। महान विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी से पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले दिनेश कार्तिक टीम से अंदर बाहर होते रहे। ऐसा इसलिए भी था, क्योंकि उनके बाद आए एमएस धौनी ने अपने पैर जमा लिए थे। वहीं, जब दिनेश कार्तिक को मौका मिलता तो वे उस मौके को भुना नहीं पाते। ऐसा एक या दो बार नहीं, बल्कि दर्जनों बार हुआ है।

दिनेश कार्तिक घरेलू फॉर्म के आधार पर भारत की टेस्ट, वनडे और टी20 टीम में जगह बनाते, लेकिन खराब प्रदर्शन की वजह से बाहर हो जाते। कई बार उनको खुद को साबित करने का मौका तक नहीं दिया जाता था, क्योंकि तब तक कप्तान धौनी टीम का हिस्सा हो जाते थे। ऐसे में दिनेश कार्तिक ही नहीं, बल्कि तमाम विकेटकीपर बल्लेबाज अपने मौके के लिए इंतजार में रहे, जो कि अब उनके लिए समाप्त हो गया, लेकिन युवा विकेटकीपर बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन कर टीम में जगह बना रहे हैं।

साल 2004 में डेब्यू करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने 140 से ज्यादा इंटरनेशनल मैच खेले हैं, लेकिन सिर्फ एक बार वे शतक जड़ सके हैं। ये दर्शाता है कि इस बल्लेबाज को काफी मौका मिला, लेकिन उन मौकों को वे भुना नहीं सके। यहां तक कि वनडे और टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में उनको ओपनिंग करने का भी मौका मिला है, लेकिन फिर भी वे कभी भी शतकीय पारी नहीं खेल सके हैं। वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में उनका उच्चतम स्कोर 79 है, जबकि टी20 मैच में वे 48 रन ही सबसे ज्यादा बना सके हैं।

चेन्नई में जन्मे दिनेश कार्तिक आज यानी 1 जून 2020 को 35 साल के हो गए। दिनेश कार्तिक खुद इस बात को जानते हैं कि टेस्ट और वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट से उनका पत्ता कट गया है, लेकिन टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में वे खेल सकते हैं। 182 आइपीएल मैच खेलने वाले दिनेश कार्तिक के पास टी20 क्रिकेट का अनुभव है। यही अनुभव उनके काम तब आया था जब निदास ट्रॉफी के फाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ उन्होंने आखिरी गेंद पर छक्का जड़ा था और 8 गेंदों में 29 रन बनाकर टीम को जीत दिलाई थी।

विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर खेलने वाले दिनेश कार्तिक ने भारत के लिए 26 टेस्ट मैच 14 साल की अवधि में खेले हैं। इन मैचों में 42 बार उनको बल्लेबाजी करने का मौका मिला है, लेकिन वे सिर्फ एक बार शतक जड़ पाए हैं। टेस्ट करियर में उन्होंने 1025 रन बनाए हैं। वहीं, वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में 94 मैचों की 79 पारियों में वे 1752 रन बना सके हैं, जिसमें 9 अर्धशतक शामिल हैं। इसके अलावा 32 टी20 इंटरनेशनल मैचों की 26 पारियों में वे 399 रन बना सके हैं, जिसमें एक भी अर्धशतक उनके नाम नहीं है।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस