नई दिल्ली, जेएनएन। मिनी वर्ल्ड कप यानि चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट का आगाज गुरुवार से हो रहा है। इस बार ये टूर्नामेंट थोड़ा खास होगा। चैंपियंस ट्रॉफी इसलिए खास होगी क्योंकि इस टूर्नामेंट में वो होने जा रहा है जो आजतक क्रिकेट इतिहास में कभी नहीं हुआ। इस बार चैंपियंस ट्रॉफी का ये टूर्नामेंट स्मार्ट हो गया है।

चैंपियंस ट्रॉफी मे होगा चिप का इस्तेमाल

हर बार की तरह इस बार भी चैंपियंस ट्रॉफी में 8 टीमें खिताब के लिए जद्दोजहद करेंगी। लेकिन इस बार प्रत्येक टीम के तीन बल्लेबाज़ ऐसे बैट का प्रयोग करेंगे जिसमे चिप लगी हुई होगी। इस चिप के जरिये बल्लेबाज़ का डेटा रिकॉर्ड किया जाएगा। टीम इंडिया में ये चिप रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे और आर. अश्विन के बैट में लगाई जाएगी। अभी तक बेसबॉल में इस चिप को इस्तेमाल किया जाता था।

चिप से क्या होगा फायदा ?

आइसीसी और इंटेल कंपनी के बीच हुए महत्वपूर्ण करार के बाद इस तकनीक को अपनाया जा रहा है। इस चिप से बल्लेबाज की पिच मूवमेंट, उसके शॉट्स आदि का डाटा रिकॉर्ड होता है। इस चिप का सिग्नल ख़ास कैमरे रिकॉर्ड करेंगे। इस डेटा से पता चलेगा कि बल्लेबाज़ ने कितनी गेंद ऑफ साइड में खेली, कितनी लेग में खेली और कितनी गेंदों पर तेज प्रहार किया।

आइसीसी के चैयरमैन डेविड रिचर्डसन ने कहा कि यह बेहद रोमांचक है. इसी साल अप्रैल में आईसीसी ने इंटेल को अपना इनोवेशन पार्टनर चुना था। अब देखना दिलचस्प होगा की टीम इस चिप के डेटा का इस्तेमाल कैसे करती है और इससे क्रिकेट को कितना फायदा होता है।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप